Published On : Tue, Nov 10th, 2020

मेडिकल प्रवेश के लिए कॉलेज के विकल्पों के चयन की समय सीमा बढ़ाई जाए: एबीवीपी

नागपुर– कोविड-19 के कारण लोगों का सम्पूर्ण जीवन अस्त व्यस्त हो गया है. कोविड का असर लोगों की आर्थिक परिस्थिति पर हुआ है. कोविड के कारण विद्यार्थी वर्ग पहले ही एडमिशन को लेकर तनाव में था. अब राज्य की एंट्रेंस एग्जाम धीरे धीरे शुरू हो रही है. राज्य की मेडीकल एडमिशन प्रोसेस शुरू करने के लिए राज्य सरकार ने जाहिर किया है, आनेवाले 12 नवंबर को एमबीबीएस पाठ्यक्रम की प्रथम गुणवत्ता सूचि जारी की जानेवाली है.

लेकिन यह सूचि जारी करने के बाद 24 घंटो के भीतर कॉलेज ऑप्शन नेम अनिवार्य किया गया है. यह मुद्दत काफी कम है. इसलिए एबीवीपी की ओर से मुद्दत बढ़ाने की मांग सरकार से की है. एबीवीपी ने मांग की है कि कॉलेज ऑप्शन के लिए विद्यार्थियों को कम से कम 48 घंटो का समय दिया जाए.

इसके अलावा विद्यार्थियों की वर्तमान आर्थिक स्थिति को देखते हुए सभी सरकारी, निजी कॉलेजों में मेडिकल पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश की मांग करने वाले छात्रों को इन्सटॉलमेंट के रूप में ट्यूशन फीस का भुगतान करने की अनुमति दी जानी चाहिए, अभाविप ने राज्य के चिकित्सा शिक्षा मंत्री, निदेशक और कुलपति को एबीवीपी के द्वारा दिए गए पत्र के माध्यम से मांग की गई है.