Published On : Mon, Aug 7th, 2017

पेंच टाइगर रिजर्व: शिकार के बाद खेत में छिपाए थे बाघ के दांत


नागपुर
: महाराष्ट्र की सीमा में आनेवाले पेंच बाघ परियोजना में एक और बाघ के शिकार का मामला सामने आ रहा है। पेंच टाइगर रिजर्व से बाघों की हड्डियों के मिलने के बाद अब एक अन्य मामले में पूरे आकार के व्यस्क बाघ के दांत खेत की जमीन में गाड़े होने की जानकारी मिली है। तीन दिन पूर्व वन विभाग द्वारा शिकार के मामले में गिरफ्तार दो आरोपियों ने पूछताछ के यह बात बताई है। जब वन विभाग की टीम ने कोलितमारा गांव के बताए गए खेत के स्थल की जांच की तो हक्का-बक्का रह गई।

बताया- बाघ का शव मिला था…
पवनी रेंज के वन परिक्षेत्र अधिकारी पांडुरंग पखाले ने बताया कि पारशिवनी तहसील के पास पेंच टाइगर रिजर्व से लगे कोलितमारा गांव की खेत जमीन से बाघ के दांत मिले हैं। इन दांतों के बारे में तीन दिन पहले गिफ्तार किए गए आरोपी बी.बी. परतेती और एस.डी. धुर्वे ने पूछताछ के दौरान बताया। सूत्र बताते हैं कि आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि उन्हें एक बाघ का शव मिला था, जिसमें से उन्होंने नाखून और दांत निकाल लिए थे। इस जानकारी के आधार पर जब वन विभाग की जांच टीम ने खोजी अभियान चलाया तो बाघ के दांत बताए गए स्थल से बरामद किए गए। हालांकि, अब भी पूछताछ में इसका खुलासा नहीं हो पाया है कि गिरफ्तार आरोपियों ने बाघ का शिकार किया है या नहीं।

बढ़ने लगी आरोपियों की संख्या
मिली जानकारी के अनुसार, पवनी वनपरिक्षेत्र के पेंच टाइगर रिजर्व में 26 जून को वनपरिक्षेत्राधिकारी तथा उनकी पूरी टीम ने उसरीपार से गुप्त सूचना के आधार पर 2 लोग देवीदास कुमरे तथा बाबूलाल कुमरे को गिरफ्तार किया था। उनके पास से 12 किलो के आसपास बाघ के अवशेष बरामद किए गए थे। जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ती गई, आरोपियों की संख्या बढ़ने लगी। अब तक इस प्रकरण में 7 लोगों को जेल भेजे जाने की जानकारी आरएफओ ने दी है। इसी कड़ी में 3 तथा 4 अगस्त को पारशिवनी तहसील के कोलितमरा से दो लोग एस. डी. धुर्वे तथा बी. बी. परतेती को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उनको वन हिरासत में भेजा गया। वन हिरासत में उनसे की गई पूछताछ में 5 अगस्त को बाघ के 4 बड़े दांत बरामद किए गए।