Published On : Thu, Dec 12th, 2019

मरीज के परिजनों के अंग दान के निर्णय से बची तीन ज़िंदगिया

न्यू एरा हॉस्पिटल में लिवर और किडनी का हुआ सफल ट्रांसप्लांट

नागपुर– वर्धमान नगर के न्यू एरा हॉस्पिटल में लिवर और एक किडनी का सफल ट्रांसप्लांट किया गया साथ ही एक किडनी ऑरेंज सिटी हॉस्पिटल में भेजी गई। जानकारी के अनुसार जरीपटका में रहनेवाले उमेश मोटघरे मेंटल हॉस्पिटल में प्रशासकीय अधिकारी के पद पर थे। 2019 को वे रिटायर हुए। दिसंबर 2019 को इन्हे ब्रैन्हेम्रेज हो गया। ब्रेनडेड अवस्था में मरीज को न्यू एरा हॉस्पिटल में लाया गया था। इसके बाद हॉस्पिटल के संचालक डॉ. नीलेश अग्रवाल, डॉ. आनंद संचेती, डॉ. निधीश मिश्रा ने मोटघरे की पत्नी और बेटे को अंग दान के बारे में जानकारी दी। इसके बाद मरीज की पत्नी और बेटे ने यह निर्णय लिया।

Advertisement

लिवर ट्रांसप्लांट यह एक आवाहनतमक ऑपरेशन है। लेकिन न्यू एरा के डॉक्टर्स और स्टाफ ने इस ऑपरेशन को सफल बनाया। न्यू एरा हॉस्पिटल के लिवर ट्रांसप्लांट सर्जन डॉ.राहुल सक्सेना, न्यूरो सर्जन व् स्पाइनल सर्जन डॉ. नीलेश अग्रवाल, कार्डियक व् हार्ट ट्रांसप्लांट सर्जन डॉ.आनंद संचेती और ह्रदयरोग विशेषज्ञ डॉ. निधीश मिश्रा ने इसे सफल बना दिया। डॉ. नीलेश अग्रवाल ने कहा की जिन मरीज का ट्रांसप्लांट किया गया है वे सभी स्वस्थ है। उन्होंने अंगदान करनेवाले परिजनों का धन्यवाद किया है। डॉ.अग्रवाल ने कहा की अंगदान से 3 ज़िंदगियाँ बची है। परिजनों ने लिवर, किडनी और कॉर्निया दान करने का निर्णय लिया था।

इस ऑपरेशन में टीम का नेतृत्व डॉ. राहुल सक्सेना, एनेस्थटिक डॉ.साहिल बंसल और डॉ.सुशांत गुलहाने ने किया। किडनी ट्रांसप्लांट का नेतृत्व डॉ. शिवनारायण आचार्य, ट्रांसप्लांट नेफ्रोलॉजिस्ट डॉ.अमित देशपांडे, डॉ. रवि देशमुख रीनल ट्रांसप्लांट सर्जन और डॉ.रोहित गुप्ता ने किया।

न्यू एरा हॉस्पिटल में पिछले 18 महीने में 26 लिवर,14 किडनी और एक हार्ट ट्रांस्प्लांट किया गया है। 18 महीनों में कुल 69 अंगदान किए गए है। इसमें ट्रांसप्लांट कोऑर्डिनेटर डॉ. अश्विनी चौधरी ने विशेष भूमिका निभाई है। इसके साथ ही वोटी स्टाफ सुधाकर बुराड़े, लोकेश तरारे, पूनम धराडे और गीता बावनकर ने भी विशेष योगदान दिया है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement