Published On : Sat, Mar 17th, 2018

गुरुनानक प्राथमिक माध्यमिक व जूनियर कॉलेज बचाने, हजारों विद्यार्थी उतरे सड़क पर


नागपुर: बेजनबाग स्थित गुरुनानक प्राथमिक माध्यमिक व जूनियर कॉलेज के हजारों विद्यार्थियों ने पालकों और शिक्षकों समेत अपनी मांगों को लेकर यशवंत स्टेडियम से लेकर संविधान चौक तक शान्ति मार्च निकाला. कई वर्षों से गुरुनानक स्कूल को सीबीएसई स्कूल बनाने का प्रत्यन किया जा रहा है और इस स्कूल को बंद करने का प्रयास किया जा रहा है. स्कूल ट्रस्ट की ओर से कोर्ट में केस दाखिल किया गया था. जिसमे कोर्ट ने निर्णय दिया कि एक साल पहले सभी को सूचना देने के बाद स्कूल बंद कर सकते हैं.

इस दौरान संविधान चौक पर प्रिंसिपल जसपाल सिंह सलूजा के खिलाफ नारेबाजी भी की गई. इस स्कूल में गरीब तबके के करीब साढ़े तीन हजार विद्यार्थी पढ़ते हैं और 108 शिक्षक हैं. अगर स्कूल बंद किया जाता है तो इन विद्यार्थियों का पढ़ाई का नुक्सान होगा. प्रदर्शनकारियों ने मांग की है कि स्कूल को बंद न होने दिया जाए इसके लिए कलेक्टर के माध्यम से मुख्यमंत्री से यह निवेदन किया गया है कि स्कूल की जिम्मेदारी राज्य सरकार अपने हाथों में लें.


इस दौरान पालक संघर्ष समिति के उपाध्यक्ष महेंद्र पराते ने बताया कि स्कूल की लीज खत्म हो चुकी है. स्कूल द्वारा कोर्ट में याचिका डाली गई थी. जिसमे कोर्ट ने निर्णय दिया कि स्कूल प्रबंधन स्कूल बंद कर सकते हैं. लेकिन स्कूल बंद करने से हजारों विद्यार्थियों का नुक्सान होगा. जिसके कारण प्रशासन से यह मांग की गई है कि स्कूल का संचालन सरकार अपने हाथों में ले. उन्होंने बताया कि स्कूल प्रबंधन इस स्कूल का बाजारीकरण करना चाहते हैं जिसके लिए इसे बंद कर सीबीएसई करने की योजना बनाई जा रही है.


इस दौरान स्कूल के शिक्षक देवेंद्र हुलके ने बताया कि एक साल पहले स्कूल ट्रस्ट द्वारा गलत तरीके से साइन लिया गया था. अगर स्कूल को सीबीएसई बनाया गया तो स्कूल के शिक्षक तो निजी हो ही जाएंगे साथ ही इसके विद्यार्थियों को भी महंगी फीस देनी पड़ेगी.