Published On : Tue, Feb 25th, 2020

रिजल्ट बेहतर करने इस बार 10वी की परीक्षा में बदलेगा मार्किंग पैटर्न

नागपुर– तीन मार्च से शुरू हो रही 10वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं के मद्देनजर राज्य शिक्षा मंडल के विभागीय कार्यालय में तैयारियां जोरों पर हैं. इस बार प्रश्नपत्र के पैटर्न में बहुत से बदलाव देखने को मिलेंगे, जिसके कारण 10वीं का परिणाम सुधरने की उम्मीद की जा रही है. दरअसल, पिछले साल रिजल्ट कुल 67.27 फीसदी था. इस परीक्षा परिणाम ने विभाग को सोचने पर मजबूर कर दिया. इसके बाद मार्किंग पैटर्न में बदलाव का निर्णय लिया गया.

इसी पैटर्न में इस बार मार्किंग होगी. 80-20 स्कोरिंग पैटर्न अपनाया गया है. यानी 80 अंक थ्योरी के और 20 अंक इंटरनल के. कुल 100 अंकों के इस पेपर में पास होने के लिए 35 अंक जरूरी होते हैं. लिहाजा इंटरनल अंकों की मदद से विद्यार्थी इस वर्ष बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं.

1 लाख 64 हजार 751 विद्यार्थियों ने पिछले साल बोर्ड परीक्षा के लिए नागपुर जिले में कराया था पंजीयन, 1 लाख 62 हजार 5 विद्यार्थियों ने दी थी परीक्षा, एक लाख 8 हजार 977 विद्यार्थी हुए थे पास, 68 हजार 607 विद्यार्थियों ने इस साल नागपुर जिले में कराया है पंजीयन बनाए गए हैं 230 केंद्र.


परीक्षा में नकल रोकने के लिए बोर्ड ने उड़नदस्तों का गठन कर लिया है. विभागीय स्तर सहित जिला स्तर पर उड़न दस्ते तैनात किये गये हैं. बोर्ड के अनुसार उनके उड़नदस्ते पहले दिन से ही सक्रिय रहेंगे. कुछ केंद्रों को अतिसंवेदनशील घोषित किया गया है, जहां उड़नदस्तों की खास नजर रहेगी. इन केंद्रों पर बैठा पथक तैनात किया जाएगा. साथ ही, जिला स्तर पर बनाए गये पथक भी सक्रिय रूप से कार्यरत रहेंगे.