Published On : Wed, Feb 24th, 2021

CAIT के आव्हान पर 26 फरवरी के व्यापार बंद को एन.वी.वी.सी. का समर्थन

कोरोना को मात देने के लिये कोविड नियमों का पूर्ण पालन करें: अश्विन मेहाड़िया


नाग विदर्भ चेंबर आॅफ काॅमर्स ने ब्।प्ज् के आव्हान पर 26 फरवरी 2021 को जी.एस.टी प्रणाली के सरलीकरण हेतु अपना समर्थन घोषित किया।

चेंबर के अध्यक्ष श्री अश्विन मेहाड़िया ने बताया कि 1 जुलाई 2017 को सरकार ने जी.एस.टी. लागू करते समय कहा था कि करदाता को प्रतिमाह एक ही रिर्टन भरना होगा तथा करदाता द्वारा की गयी खरीदादारी का इनपुट भी आसानी से मिल जायेगा। किंतु सरकार द्वारा जी.एस.टी. प्रक्रिया में अबतक लगभग 900 से अधिक संशोधन किए जा चुके है। छोटी-छोटी भूलचूक पर टैक्स राशी के दुगना तक जुर्माना लगाया जा रहा है एवंम लेट फी तथा उसका ब्याज दर भी बहुत अधिक है। व्यापारियों का आधे से अधिक समय रिर्टन भरने एवं कम्पलांयस करने में जा रहा है जिसके कारण वह अपने व्यापार की ओर भी ठीक तरह से ध्यान नहीं दे पा रहा है। जिसके कारण व्यापारियों को बहुत अधिक मानसिक तथा आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

अतः वर्तमान जी.एस.टी. प्रणाली में सुधार कर व्यापारियों को राहत देने के उद्देश्य से कन्फडरेशन आॅफ आॅल इंडिया टेªडर्स (CAIT) ने संपूर्ण भारत में मुहिम शुरू कर व्यापारियों की परेशानियों की ओर सरकार का ध्यान आकर्षित करने हेतु 26 फरवरी 2021 को राष्ट्रीय स्तर सांकेतिक एक दिवसीय व्यापार बंद का आव्हान किया है।

नाग विदर्भ चेंबर आॅफ काॅमर्स ने व्यापार संगठन के पदाधिकारियों की आॅनलाइन सभा बुलाकर इस पर विषय पर चर्चा की। सभा में उपस्थित व्यापार संगठन अध्यक्ष/सचिव व प्रतिनिधियों ने एकमत से 26 फरवरी 2021 को एक दिवसीय व्यापार बंद को अपना समर्थन जाहीर कर समर्थन पत्र भी प्रेषित किये।

चेंबर के सचिव रामअवतार तोतला ने कहा कि वर्तमान में भारत तथा महाराष्ट्र के साथ-साथ नागपुर में भी कोरोना का संक्रमण पुनः तेजी से फैल रहा है। व्यापारियों द्वारा अपना, अपने परिवार, कर्मचारी अपने ग्राहकों का कोविड-19 के बचाव करते हुये आर्थिक गतिविधियां भी शुरू रखना आवश्यक है। अतः सभी नागरिकों ने कोरोना महामारी को संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सरकारी दिशा निर्देशों का पालन करते हुये कोविड-19 के नियमों जैसे:- आवश्क हो तभी घर से बाहर निकलना चाहिये, बाहर निकलने पर मास्क पहनना, नियमित सैनेटाइजर करना, दो गज दूरी बनाये रखना आवश्यक है। सर्दी, बुखार, खांसी होने पर या कोरोना के कोई भी लक्षण दिखने पर डाॅक्टरी सलाह लेकर अपना इलाज कराना चाहिये। ताकि कोरोना महामारी के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

चेंबर अध्यक्ष श्री अश्विन मेहाड़िया एवं सचिव रामअवतार तोतला ने संयुक्त रूप से सभी व्यापारियों से आव्हान किया कि 26 फरवरी 2021 को अपने-अपने प्रतिष्ठान बंद रखकर जी.एस.टी. प्रणाली के विरोध में एक दिवसीय व्यापार बंद को सफल बनाये तथा कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिये सरकारी दिशा-निर्देशों तथा कोविड-19 के नियमों का पूर्ण पालन करें।
उपरोक्त जानकारी प्रेस विज्ञप्ति द्वारा सचिव श्री रामअवतार तोतला ने दी।