Published On : Thu, Feb 5th, 2015

वरुड : सांवगा में गुटीय संघर्ष से तनाव


12 गिरफ्तार, कड़ा बंदोबस्त

Tention in Varud
वरुड (अमरावती)। वरुड तहसील के सांवगा में धार्मिक स्थल के निर्माण कार्य के विषय पर दो गुटों में सशस्त्र संघर्ष होने से तनाव निर्माण हो गया. इस संघर्ष में उग्र भीड़ ने एक शख्स के घर को भी जलाने का प्रयास किया, लेकिन ग्रामीण पुलिस की सर्तकता से मकान को फूकने से बचा लिया. बुधवार की रात 8.30 बजे हुई यह घटना हुई. ग्रामीण पुलिस ने तत्काल स्थिति संभालकर पूरे गांव में अतिरिक्त बल तैनात किया है. दंगा फैलाने वाले 12 आरोपियों को भी गिरफ्तार किया. सांवगा ग्राम में बुध्द विहार की जमीन के विषय पर दो वर्षो से दो गुटों के बीच विवाद चल रहा है, लेकिन बुधवार की रात किराणा दूकान से उधारी मांगने की बात पर दो युवकों में झगड़ा शुरु हुआ. जिसने कुछ ही पल में गुटीय संघर्ष का रुप ले लिया. दोनों गुट के लोग सशस्त्र लेकर आमने-सामने मारपीट करने लगे.

घर जलाने का प्रयास
इस मारपीट के दौरान उग्र भीड़ ने अजय भागवत चौधरी के घर पर राकेल डालकर उसे जलाने का प्रयास किया. जिसमें कमलाबाई चौधरी घायल हो गई. सूचना बेनोडा पुलिस के साथ अतिरिक्त बल के रुप में शेदुरजना घाट, वरुड पुलिस भी घटनास्थल पहुंची. पुलिस ने धरपकड़ अभियान शुरु करने से मकान जलने से बच गया. दोनों गुट के लोगों को गिरफ्तार कर थाने लाया गया. यहां प्रफुल्ल निबालकर की रिपोर्ट पर मकान जलाने के प्रयास व हमला करने के मामले में किसना इखे, सुरेश शेकार, महादेव कुरवाले, योगेश इखे, नरेंद्र साबले, विलास साबले के खिलाफ मामला दर्ज किया है, जबकि नरेंद्र साबले की रिपोर्ट पर निर्माण कार्य में बाधा डालकर विवाद करने के तहत पुरुषोत्तम निंबालकर, प्रफुल निंबालकर, श्रीराम निंबालकर, शंकर निंबालकर, प्रशांत निंबालकर, शशीकांत निंबालकर के खिलाफ मामला दर्ज किया है. कमलाबाई व नरेंद्र साबले का अस्पताल में इलाज चल रहा है. उपविभागीय अधिकारी राजा रामासामी, तहसीलदार राम लंके, नायब तहसीलदार एम.के.असनानी, वरुड थानेदार अर्जून ठोसरे, अशोक लांडे, मुंकुंद ठाकरे वहां पहुंचे.