Published On : Mon, Sep 27th, 2021

एकतरफा प्रेम की कहानी, पीड़िता को बंद कर दिया किचन में

-दोनों दो-दो बच्चों के माता-पिता, कोर्ट ने आरोपी को जेल भेजा

Advertisement

नागपुर: ‘क्या हुआ अगर तुम मुझसे प्यार नहीं करती? मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं और तुम्हारे बिना एक पल भी जीना संभव नहीं है। अगर तुम मेरी नहीं हो सकती तो मैं तुम्हें किसी और का भी नहीं होने दूंगा।’ इस अलफाज के साथ एकतरफा प्रेम करने वाले आरोपी एवं दो बच्चों के पिता ने पीड़िता को धमकी दी है। पीड़िता एक शादीशुदा महिला है और दो बच्चों की मां है। हैरान करने वाली बात यह है कि आरोपी ने पीड़िता को उसके ही घर के किचन में बंद रखा था।

Advertisement

कपिलनगर थाना क्षेत्र के अंतर्गत महिलाओं की सुरक्षा के दृष्टिकोण से यह एक परेशान कर देने वाली घटना है। पुलिस ने पीड़िता के बयान के आधार पर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी पडोले नगर, जयभीम चौक निवासी मोनू आडीकने (33) है। कोर्ट के आदेश पर उसे जेल भेज दिया गया है।

Advertisement

पुलिस के मुताबिक मोनू शादीशुदा है और उसके दो बच्चे हैं। वह मनपा के लिए कचरा संग्रहण और क्लीनर का काम करता है। वह क्षेत्र के घर-घर जाकर कूड़ा-कचरा इकट्ठा करता है। सोनू (बदला हुआ नाम) भी शादीशुदा औरत है और उसके दो बच्चे हैं। उसका पति बीमारी से ग्रस्त है।

एक दिन पति की हालत बिगड़ने पर सोनू जल्दबाजी में घर से बाहर निकली और अस्पताल की ओर चल दी। इस दौरान वहां पर कचरा साफ कर रहे मोनू का ध्यान उसकी ओर गया। दोनों फिर मिले और 15 साल पहले की विद्यालय की पुरानी यादें मानों ताजा हो गईं। दरअसल सोनू और मोनू सहपाठी थे। दोनों ने एक-दूसरे को पहचान लिया। इस मुलाकात से शुरूआत में तो दोनों को अच्छा महसूस हुआ, लेकिन पहचान का गलत फायदा उठाते हुए मोनू अक्सर पीड़िता सोनू के घर आने जाने लगा। धीरे-धीरे मोनू को उस से एकतरफा प्यार हो गया। सोनू को उसके इरादों के बारे में कोई खबर नहीं थी।

शादी करने का रखा प्रस्ताव:
इस बीच मोनू ने पीड़िता को उसके दो बच्चों के सामने ही शादी करने का प्रस्ताव रखा, जिसे सोनू ने साफ मना कर दिया। लेकिन मोनू ने उसका पीछा नहीं छोड़ा। वह 10 जुलाई से लगातार उसे मनाने की कोशिश कर रहा था, लेकिन हर बार वह साफ साफ इनकार कर देती।

न मानने पर बच्चे के गले पर रखा चाकू:
प्यार में पागल मोनू शनिवार को फिर पीड़िता के घर आया। उसके पति की गैरमौजूदगी में वह सीधा सोनू के किचन में दाखिल हो गया। दरवाजा बंद कर दिया। सोनू डर के मारे काफी घबरा गई। उसने फिर से शादी करने का प्रस्ताव रखा। हर बार की तरह सोनू ने फिर मना कर दिया और उसे फौरन घर से निकलने को कहा। क्रोध में पागल मोनू ने कहा कि यदि तुम मेरी नहीं बन सकी तो मैं तुम्हें किसी और का नहीं बनने दूंगा और तुम्हारे घर को भी उजाड़ दूंगा। उसने सोनू के बेटे के गले में चाकू रख कर जान से मारने की धमकी दी ।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement