Published On : Thu, Aug 31st, 2017

नागराज मंजुले की फिल्म में नागपुर के फ़ुटबॉल प्रशिक्षक विजय बारसे की कहानी


नागपुर: मराठी सिनेमा में इतिहास बनाने वाली फिल्म सैराट के निर्देशक नागराज मंजुले महानायक अमिताभ बच्चा के साथ हिंदी सिनेमा में पदार्पण करने जा रहे है। सामाजिक मुद्दों पर आधारित सैराट और फैंड्री फिल्म के बाद नागराज अपनी पहली हिंदी फिल्म में एक ऐसे नायक की कहानी रुपहले पर्दे पर दर्शाने जा रहे है जो नागपुर से ताल्लुख रखना है।

शहर में विजय बारसे जाना माना नाम है। बारसे को श्रेय जाता है शहर में झोपड़पट्टी फुटबॉल प्रतियोगिता के आयोजन का,अपना सारा जीवन फ़ुटबॉल खेल के प्रति समर्पित करने वाले विजय बारसे ने झोपड़पट्टी में रहने वाले बच्चों को आज भी फ़ुटबॉल सिखाते है। बारिश के मौसम में उनके द्वारा आयोजित की जाने वाली झोपड़पट्टी फुटबॉल प्रतियोगिता में कई टीमें हिस्सा लेती है। ख़ास है इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले खिलाड़ी नंगे पैर खेलते है। बारसे नागपुर महानगर पालिका के मनोनीत सदस्य भी रह चुके है।

अपनी आगामी फिल्म को लेकर नागराज ने अब तक खुल कर बात तो नहीं की है लेकिन उन्होंने फिल्म में वास्तविक किरदार के होने की बात जरूर बताई है। इस फिल्म की स्क्रिप्ट को लेकर वो काफी वक्त से काम कर रहे थे इतना तय है की इस फिल्म में प्रमुख किरदार की भूमिका महानायक अमिताभ बच्चन ही निभाएंगे। नागराज के अनुसार वो अमिताभ बच्चन के बचपन से प्रसंशक है अक्टूबर से फिल्म की शूटिंग शुरू हो जाएगी। नागपुर टुडे से बात करते हुए विजय बारसे ने भी नागराज से मुलाकात और बात होने की जानकारी दी है।

हिंदी सिनेमा का यह दौर रियलिस्टिक सिनेमा के दौर के रूप में विस्तार ले रहा है। खास तौर से खेल जगत से जुड़े लोगो की कहानियों को दर्शकों के बीच काफ़ी पसंद किया गया है। मैरी कॉम,द लीजेंड ऑफ़ मिल्खा सिंग,दंगल,चक दे इंडिया,एम एस धोनी द अनटोल्ड स्टोरी ने बॉक्स ऑफिस पर रिकॉर्ड तोड़ सफ़लता हासिल की है। अब नागराज मंजुले के सिनेमा के माध्यम से जल्द ही खेल को समर्पित नागपुर के सच्चे हीरो की कहानी दुनिया तक पहुँचने वाली है।