Published On : Wed, Nov 4th, 2020

नए प्राध्यापकों के साथ पाली विभाग कर रहा है अन्याय

डॉ.जी.पी.इंगोले ने की कुलगुरु से शिकायत

नागपुर– नागपुर यूनिवर्सिटी के विभाग प्रमुखों द्वारा अपने यहां प्रति लेक्चर के मानदेय पर पढ़ानेवाले सीएचबी ( Clock Hour Basis ) शिक्षकों को मानधन नहीं दिया जा रहा है. हाल ही में नागपुर यूनिवर्सिटी के पाली व् बुद्धिस्ट स्टडीज विभाग का यह मामला सामने आया है. इस पुरे मामले में शिकायतकर्ता डॉ.जी.पी.इंगोले ( भंते धम्मरक्षित ) ने कुलगुरु से मिलकर शिकायत की है.

भंते धम्मरक्षित के अनुसार पाली व् बुद्धिस्ट स्टडीज विभाग के प्रमुख ने उनका मानदेय नहीं दिया है. इसके साथ ही उन्होंने इस वर्ष एम.ए.पार्ट -1 और एम.ए -2 को पढ़ाने के लिए ऐसे प्राध्यापकों का चयन किया गया है. जिनके पास एम.ए पाली व् बुद्धिस्ट स्टडीज व् नेट की पात्रता ही नहीं है, इन प्राध्यापकों में डॉ. मालती साखरे, डॉ.भालचंद्र खांडेकर और डॉ.कृष्णा कांबले शामिल है.

शिकायतकर्ता डॉ.जी.पी.इंगोले ( भंते धम्मरक्षित ) का आरोप है कि इनकी नियुक्ति यूजीसी के नियमों का उल्लंघन करके की गई है. इन सेवानिवृत्त प्राध्यापकों को पढ़ाने के लिए सीएचबी तौर पर नियुक्त किया गया है. जिससे नए शिक्षकों के अधिकारों का हनन हुआ है. इस मामले में जांच करके नए शिक्षकों को पढ़ाने का मौका देने की मांग भंते धम्मरक्षित ने की है.