Published On : Mon, Nov 8th, 2021

कोराडी के पुराने पावर प्लांट मे आमंत्रित निविदा की असलियत उजागर

– संशोधित निविदा में रुपये 10 लाख कम किया गया

नागपूर – कोराडी के पुराने 210 मेगावाट पावर प्लांट मे तकनीकी निविदा प्रक्रिया का रहस्य उजागर होते ही संशोधित निविदा मे 10 लाख रुपये कम कर दिया गया है l तकनीकी सूत्रों की माने तो पुराने 210 मेगावाट क्षमता के संयंत्र क्रं 6 व संयंत्र क्रं 7 के लिए मेंटनैन्स एण्ड पेट्रोलिंग आफ एशस्लेरी डिस्पोजल लाईन बुस्टर पंम्प इस कार्य के लिए निविदा के लिए विगत मई 2021 मे कार्यों का प्रावधान(इस्टीमेट) तैयार किया गया. आमंत्रित निविदा क्रं 3000021406 दिनांक:25 अगस्त 2021 है l जिसकी कीमत रुपये 49 लाख,61हजार 606 रुपये आंका गया है l जिसे लेकर विधुत प्रबंधन मे गुप्तगू बवाल खडा होने लगा था कि संयंत्र क्रं 7 दिनांक:4 अगस्त 2021 को बंद करवा दिया गया l शेष बचे संयंत्र क्रं 6 से बिजली उत्पादन बरकरार हैl

निविदा मे संशोधन जरुरी: C.E.तासकर
तत्संबंध मे मुख्य अभियंता श्री राजकुमार तासकर का मानना है कि इस निविदा प्रक्रिया आमंत्रित करने के 6 महीना पूर्व ही औपचारिकताएं(फार्मलिटी) तैयारियां शुरु कर दी जाती है. परंतु वर्तमान परिस्थिती और हालात के मद्देनजर एक संयंत्र बंद हो जाने से की वजह से उक्त निविदा को नियम के मुताबिक रद्ध(निरस्त) करना पड रहा है .मुख्य अभियंता श्री तासकर के अनुसार उक्त संशोधित निविदा दर की कीमत 10 लाख रुपये कम किया जा रहा हैl उन्होने आगे बताया कि जिसमे उसी प्रथम कम दर(फस्टलोएस्ट) वाली चंद्रपुर की फर्म मेसर्सः प्रीमियर प्लांट सर्विसेस को सूचना पत्र देकर सूचित कर असलियत से अवगत कराया गया है


यदि उक्त फस्टलोएस्ट निविदा धारक फर्म संबंधित कार्यों को पूरा करने को तैयार है तो 7 दिन के भीतर समाधानकारक स्वीकारोक्ति प्रतिउत्तर दें? अन्यथा इस कार्य के लिए पुनः निविदा आमंत्रित करने की बात सूचना पत्र मे स्पषट किया है. हालकि सूत्रों की माने तो उक्त संयंत्र क्रं 7 पुराने स्क्रैपनुमा पावर प्लांट बंद होते ही विचाराधीन निविदा प्रक्रिया को स्थगित किया जाना चाहिये था . ताकि निविदा आमंत्रण मे आने वाला खर्च बच सकता थाl परंतु निविदा कमेटी की माने तो विधुत मुख्यालय ने एसी कोई अधिसूचना जारी नही की है. यह कार्य पावर प्लांट के वर्तमान मुख्य अभियंता के अधिकार के आधीन आता है. तत्संबंध मे मुख्य अभियंता श्री तासकर के अनुसार इस निविदा प्रक्रिया पूरी तरह पारदर्शी होती है,इसमे किसी भी प्रकार की भूल लापरवाही,गैरव्यवहार और भ्रष्टाचार नही होता इसकी सारी जिम्मेदारी और जबावदारी और निर्णय निविदा कमेटी करती हैl