Published On : Tue, Sep 19th, 2017

ओवरहेड हाईटेंशन लाइन को लेकर महावितरण-स्पैंको गंभीर नहीं

नागपुर: बीते माह उत्तर नागपुर में हाईटेंशन लाइन के संपर्क में आने के कारण दो मासूम बच्चों की जान जाने के मामले पर न्यायालय के कड़क रुख देख महावितरण व उनके अधिनस्त काम करने वाली स्पैंको सहित नागपुर सुधार प्रन्यास ने अपनी जिम्मेदारी पूर्ण करने के बजाय लाइन के निकट-नीचे रहने वाले हज़ारों घरों को जगह छोड़ने की नोटिस थमा रही है. इससे रहवासियों में संभ्रम निर्माण हो गया है.

पूर्व नागपुर की वाठोड़ा परिसर में पडोळे नगर झोपड़पट्टी, न्यू पैंथर नगर झोपड़पट्टी, नागपुर सुधार प्रन्यास मंजूर हिवरी ले-आउट, ५७२ व १९०० ले-आउट राधाकृष्ण नगर, चांदमारी नगर, जय जलाराम सोसाइटी, दर्शन कॉलोनी-नन्दनवन आदि परिसर नागपुर सुधार प्रन्यास और नागपुर महानगरपालिका अन्तर्गत आती है. उक्त परिसरों में ओवरहेड हाईटेंशन लाइन का मकड़जाल बिछा हुआ हैं. इन परिसरों में हज़ारों मकानों में १५००० से अधिक गरीब नागरिक निवास करते हैं.

कुछ माह पूर्व उत्तर नागपुर में हाईटेंशन लाइन के निकट आनंद खोब्रागडे ने स्किम खड़ी की, इसमें रहने वाले एक परिवार के २ मासूम बच्चे छत पर खेल रहे थे. इस दौरान हाईटेंशन लाइन के झटके से सामना होने के कारण उनकी जान चली गई.यह मामले को न्यायालय ने गंभीरता से लेते हुए सम्बंधित प्रशासन को कड़क डपट लगाई। इससे सकपकाए विभाग व अधिकारियों ने अपने-अपने अधीनस्त इलाके के रहवासियों पर कहर ढहाते हुए खासकर नासुप्र ने पिछले २ माह से एमआरटीपी अधिनियम ५३/१(१) के तहत नोटिस थामना शुरू कर दिया। प्रथमतः स्थानीय नागरिक हड़बड़ा गए और वे रोजमर्रा के कामकाज छोड़कर अपना-अपना घर बचाने में भीड़ गए.

स्थानीय नगरसेवक व मनपा परिवहन समिति सभापति बंटी कुकड़े व अभ्यासु नगरसेवक धर्मपाल मेश्राम ने नासुप्र व महावितरण-स्पैंको की नीति से छुब्ध होकर जानकारी दी कि उक्त सभी रहवासी परिसर ३०-४० साल पुरानी है. यहां के रहवासी इतने सक्षम नहीं है कि वे अन्यत्र जगह रहने चले जाएं। नोटिस थमाने वाले विभाग अपनी गलतियों को छुपाने के लिए नागरिकों को नोटिस थमाकर अपना पल्ला झाड़ रही है. जबकि इस परिसर में नासुप्र की मंजूर ले-आउट व ५७२/१९०० की मंजूर ले-आउट है. खतरे के मद्देनज़र नासुप्र ने न तो ले-आउट मंजूर किया होता और न ही बिजली की ओवरहेड हाईटेंशन लाइन बिछाने दी होती। वर्षों से रह रहे नागरिकों को एकाएक हटने का आदेश देना सरासर गलत है.

नगरसेवक धर्मपाल मेश्राम ने मांग की है कि महावितरण व स्पैंको ने ओवरहेड हाईटेंशन लाइन को अत्याधुनिक पद्धति से भूमिगत करना चाहिए। इस सन्दर्भ में कुकड़े व मेश्राम जल्द ही सम्बंधित विभिग से मिलकर इस रहवासी क्षेत्र पर आई अड़चन से मुक्ति दिलवाएंगे।