Published On : Wed, Jan 14th, 2015

अकोला : जल्द ही होंगा अकाल पीडितों को सहायता का वितरण


अकोला।
जिले के अकालग्रस्त किसानों के लिए प्राप्त प्रथम चरण की सहायता राशि को सोमवार को जिलाधिकारी कार्यालय द्वारा तहसीलस्तर पर विभाजित किया गया. 75 करोड 7 लाख रूपए की निधि को सात तहसीलों में बांटने के बाद दो दिन पश्चात निधि अकालग्रस्त किसानों के बैंक खातों में जमा की जाएगी.

बता दें कि इस साल खरीफ मौसम के दौरान अल्प बारिश के कारण खरीफ की फसल किसानों के हाथ से निकल गई. अकाल सदृश्य स्थिति के चलते सात तहसीलों की 4 लाख 30 हजार 4 हेक्टेयर की फसल प्रभावित हुई. जिस कारण अकालग्रस्त किसानों को ‘राहत पैकेज’ देने की घोषणा शीतसत्र के दौरान नागपूर में मुख्यमंत्री द्वारा की गई थी. जिसके तहत प्रथम चरण की सहायता राशि 75 करोड 7 लाख रूपए जिला प्रशासन को प्राप्त हुई है. जिसे सोमवार, 12 जनवरी को जिले के अकोला, तेल्हारा, अकोट, बार्शिटाकली, पातूर, बालापूर एवं मुर्तिजापूर तहसीलदारों के खातों में वितरीत किया गया है. जिस कारण बुधवार से सहायता राशि किसानों के बैंक खातों में जमा कराने की प्रक्रिया आरंभ होगी.

अकालग्रस्त किसानों की संख्या के मुकाबले प्राप्त निधि कम होने के कारण अंग्रेजी वर्ण के अनुसार गांवों का चयन कर पीडित किसानों को सहायता राशि प्रदान की जाएगी. रू. 69.45 करोड की प्रतीक्षा बारिश की बेरूखी के चलते जिले के 2 लाख 97 हजार 221 किसान प्रभावित हुए है. जिन्हें सरकारी सहायता देने के लिए जिला प्रशासन द्वारा 144 करोड 51 लाख 95 हजार 482 रूपए की सहायता राशि सरकार से मांगी गई थी. लेकिन मांगी गई निधि में से प्रथम चरण की महज 40 प्रतिशत निधि प्राप्त हुई है. जिस कारण 69 करोड 44 लाख 95 हजार 482 रूपए की सहायता राशि मिलना शेष है.

FarmerFarmer