Published On : Tue, Oct 16th, 2018

प्रशाषन की धमकी पर ठेकेदारों का जवाब कहा : जेल जाने को तैयार हम

नागपुर: मनपा के ठेकेदारों ने सोमवार को पांचवे दिन भी ठिया आंदोलन कर अपनी नाराजगी दिखाई. एक तरफ ठेकेदार बैंकों की नोटिस और लेनदारों के फोन से परेशान हैं, तो वहीं दो ठेकेदार चंद्रमणि यादव व किशोर नायडू को आर्थिक परेशानी के चलते हार्ट अटैक आया है. शेखर झुंघरे व अन्य ठेकेदारो को बैंक से घर नीलामी व एनपीए का नोटिस आने की घटनाओं को लेकर ठेकेदारों में ग़ुस्सा क़ायम है.

ठेकेदारों में उस वक़्त नाराजी तब और बढ़ गई जब अध्यक्ष विजय नायडू ने अतिरिक्त आयुक्त अज़ीज़ शेख का एक पत्र पढ़कर सुनाया, जिसमे ठेकेदारों को अपना आंदोलन का मार्ग छोड़कर बातचीत करने या कानूनी कार्यवाही की चेतावनी दी गई.

इसके जवाब में सभी ठेकेदारों ने एक मत से जेल भी जाने की तैयारी भी जताई. मनपा कॉन्ट्रैक्टर्स वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारी व अन्य ठेकेदारों का कहना है कि छह महीनों से साल भर पहले किए गए कामों के भुकतान के लिए प्रशासन, पदाधिकारियों, मंत्री यहां तक कि मंत्रालय तक बातचीत की गई पर नतीजा शून्य रहा. अब ठेकेदारों को बातचीत पर विशवास नहीं रहा. बावजूद इसके फिर भी ठेकेदारों का शिष्टमंडल अतिरिक्त आयुक्त शेख से मिलने गया लेकिन देर शाम तक उनसे मुलाक़ात न हो सकी.

लिहाजा केदारों ने अपना आंदोलन जारी रखने की मंशा जताई है. इस अवसर पर उपाध्यक्ष प्रकाश पोटपोसे, सचिव संजीव चौबे, प्रशांत ठाकरे, रफीक अहमद, घनश्याम उपाध्याय, हरीश केवलरमणी, अमित कर्ने, अफजल शाह, अर्जुन मोहाडीकर, नरेश बानिया, जगदीश तिवारी, हाजी नाजीम, अल्ताफ, संदीप चर्डे, अखिल नगरारे, छोटू बघेल, पवन येल्चेटी, जाकिर, अनंत जगनित, महादेव सोम्कुअर, प्रवीण राऊत, संजय पिसे, अफरोज खान, अमोल पुसदकर, आबिद शेख, दीपक बोबडे, शेखर जुनघरे, तेजस भगत, धनंजय मुसडे, प्रशांत वाहाने, जावेद अख्तर, प्रतीक भाईक, कमलाशंकर यादव, रामकृष्ण वकोडीकर, शंकर कुरे, संदीप ताम्णे, कैलाश सूर्यवंशी, सूर्यकांत दर्बेशवार, चीनधू हाड्गे, सचिन माने आदी उपस्थित थे.