Published On : Mon, Aug 9th, 2021

गुप्ता के खिलाफ मामला ‘INDUSTRIAL LABOR COURT’ पहुंचा

– E.S,I.C. की ओर से कार्यवाई शुरु

वेकोलि की बदनाम थ्री ट्रवल्स एजेंसियों के सरगना संदीपकुमार गुप्ता के खिलाफ INDUSTRIAL LABOR COURT में केश दायर कर दिया गया है।यह कार्यवाई कर्मचारी राज्य बीमा निगम की ओर से की गई है।बताते हैं कि आल इंडिया सोसल आर्गेनाइजेशन की तरफ से ESIC चोरी के मामले को लेकर कर्मचारी राज्य बीमा निगम,पंचदीप भवन,नागपुर स्थित उपनिदेशक को मांगो का ज्ञान सौंपा गया था कि ट्रवल्स एजेंसियों के सरगना संदीपकुमार गुप्ता की तरफ से अपने 300 श्रमिकों की विगत 18-20 सालों से ESIC रकम का भुगतान बकाया है। ज्ञापन की प्रतियां केन्द्रीय ESIC निदेशक तथा श्रम मंत्रालय को भी भेजा गया था।

परिणामतः ESIC के उप निदेशक प्रवीण सहगल ने ट्रवल्स सरगना संदीपकुमार गुप्ता से उनके श्रमिकों के संख्या और नामों की लिस्ट मांगी थी,नतीजतन गुप्ता ने मांगी गई जानकारी देने मे टाल-मटोल जबाव देते हुए ESIC अधिकारी को गुमराह करने की कोशिश की।परिणामतः ESIC ने ट्रवल्स सरगना संदीपकुमार के खिलाफ INDUSTRIAL LABOR COURT में केश दायर कर दिया है। यह जानकारी ESIC के संबंधित निरीक्षक ने दी है कि तत्संबंध में INDUSTRIAL LABOR COURT ने थ्री ट्रवल्स नियोक्ता गुप्ता को नोटिस जारी कर आवश्यक कार्यवाही शुरु कर दी है।

उधर कर्मचारी राज्य बीमा निगम मुख्यालय नई दिल्ली के अतिरिक्त निदेशक की माने तो जिस दिन श्रमिकों की भविष्य निर्वाह निधि लागू होती है उसी दिन से ESIC लागू हो जाती है।

उन्होंने यह भी जानकारी दी कि थ्री ट्रवल्स एजेंसियों को तो दण्ड के साथ ESIC रकम का भुगतान करना ही पड़ेगा अन्यथा बड़ी सजा से सामना करना पड़ सकता है.

इतना ही नहीं इस ट्रवल्स सरगना गुप्ता ESIC तथा CENTRAL LABOR COMMISSIONER OFFICE को बरगला कर मामले की फाइलें गायब करवाने की कोशिश की जा रही ?

इस संबंध में अन्य ट्रवल्स एजेंसियों का मानना है कि पिछले 18-20 सालों से यह ट्रवल्स सरगना गुप्ता संबंधित विभाग के तत्संबंधित अधिकारियों को रुपये-पैसों के बल पर मामला दबाने और ठेका श्रमिकों का आर्थिक शोषण व उत्पीड़न करते रहा है।

बताते है कि आदानी पावर प्लांट तिरोडा जिला गोंदिया में वातानुकूलित चार पहिया वाहन टैक्सियां आपूर्ति का ठेका इसी ट्रवल्स सरगना संदीपकुमार गुप्ता को दिया गया था परंतु अदानी पावर प्लांट में इन्होंने वातानुकूलित वाहन आपूर्ति न करते हुए साधारण बिना ए.सी. की वाहन आपूर्ति कर रहा है ।जबकि वह भुगतान ए.सी. वाहन आपूर्ति का उठा रहा है। इतना ही नहीं हिन्दुस्तान कापर माईन लिमिटेड बालाघाट में भी वाहन आपूर्ति का ठेका कार्यों में भी गुप्ता की धांधलियां सर चढ़ कर बोल रही.