Published On : Thu, Mar 14th, 2019

स्वामी प्रज्ञानानंद गिरी जी महाराज का निरंजनपीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर के रूप में किया गया पावन पट्टाभिषेक

वाराणसी काशी के चेतसिंह किला में आज प्रातः 10 बजे से पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी का पट्टाभिषेक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें श्रोत्रिय ब्रम्हनिष्ठ स्वामी प्रज्ञानानंद गिरी महाराज का निरंजनपीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर के रूप में पूरे विधिविधान से पावन पट्टाभिषेक किया गया.

पंचायती अखाड़ा श्रीनिरंजनी के ज्योतिष एवं द्वारकाशारदा पीठाधीश्वर पूज्यपाद जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज की अध्यक्षता में तथा स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद: सरस्वती महाराज एवं आनंदपीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी बलकानंद गिरी सहित भारतवर्ष के वरिष्ठ सन्तों,आचार्यों महामण्डलेश्वरों एवं महापुरुषों के पावन उपस्थिति तथा अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष स्वामी नरेंद्र गिरी महाराज के नेतृत्व में प्रज्ञानानंद गिरी महाराज का भगवान शंकर की तर्ज़ पर अभिषेक किया गया.

Advertisement

कार्यक्रम में इस दौरान स्वामी स्वरूपानंद महाराज ने कहा कि समय समय पर हम सभी सन्त समुदाय को एकजुट होते रहना चाहिए. इसी से समाज को सन्तों की शक्ति का पता चलता है. आज नरेंद्र गिरी महाराज ने हमारे एक शिष्य स्वामी प्रज्ञानानंद गिरी को निरंजन पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर के रूप में अभिषिक्त किया है. हम तो आप सबको अपना मानते हैं, बिना किसी भेदभाव के जब आप सबको हमारी आवश्यकता होगी हम उपलब्ध रहेंगे. एक बात स्पष्ट रूप से कहना चाहते हैं कि हमलोग अयोध्या में रामजन्म भूमि पर परब्रम्ह राम का मंदिर चाहते हैं इसमे कोई समझौता नही. हो सकता. समस्त सन्त समुदाय ने इस पावन अवसर पर एक स्वर से सनातनधर्म के उत्थान की मंगल कामना की इस अवसर पर 13 अखाड़ों के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement