Published On : Mon, Feb 24th, 2020

स्वच्छता अभियान में सकारात्मक परिवर्तन

नागपुर: स्वच्छता अभियान को अलग-अलग रूप से अंजाम देने तथा लोगों के साथ ही छात्रों में जनजागृति के लिए महापौर संदीप जोशी की संकल्पना से मनपा, शालेय शिक्षा विभाग और ट्राफिक पुलिस की ओर से एक सप्ताह तक ‘मम्मी पापा यू टू’ अभियान चलाया गया. इसका प्रतिफल यह रहा कि स्वच्छता अभियान में सकारात्मक परिवर्तन दिखाई देने का विश्वास उपमहापौर मनीषा कोठे ने जताया. रविवार को इस अभियान के तहत ली गईं विभिन्न स्पर्धाओं के पुरस्कार वितरण का आयोजन किया गया. दिलीप दिवे, प्रमोद तभाने, प्रमिला मथरानी, अति. आयुक्त राम जोशी, प्रीति मिश्रिकोटकर आदि उपस्थित थे.

सफल रहा अभियान
उपमहापौर ने कहा कि न केवल शिक्षक, छात्रों ने एक ही उद्देश्य को लेकर अभियान में हिस्सा लिया, बल्कि एक साथ सभी स्कूलों ने एक समय बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. पहली बार इस तरह से बड़ा अभियान चलाया गया है. दिवे ने कहा कि मनपा की अपील को जिस तरह से स्कूलों द्वारा प्रतिसाद दिया गया, वह सराहनीय है. भविष्य की इस पीढ़ी में शहर के प्रति आत्मीयता दिखा रही है. उन्होंने कहा कि ‘मम्मी पापा यू टू’ अभियान के माध्यम से आयोजित स्पर्धाएं केवल एक अवसर था, जबकि इसमें से भविष्य की पीढ़ी द्वारा आज की पीढ़ी को संदेश दिया गया है, जो सर्वाधिक महत्वपूर्ण रहा है. इस अभियान से भले ही अंशत: लेकिन नागरिकों की मानसिकता में परिवर्तन शुरू हुआ है.

3 लाख छात्र हुए शामिल
शिक्षाधिकारी ने कहा कि अभियान में लगभग 3 लाख छात्रों ने हिस्सा लिया है, जिससे बड़ी मात्रा में जनजागृति हो पाई है. स्वच्छता अभियान के इतिहास में मनपा द्वारा चलाए गए अब तक के अभियान में यह सबसे बड़ा अभियान होने की जानकारी भी उन्होंने दी. मनीषा महात्मे, नारायण जोशी, कल्पना वझलवार, नाना मिसाल को स्मृति चिह्न देकर सत्कार किया गया. सफलतार्थ कुसुम चापलेकर, संध्या पवार, विनय बगडे, नरेश चौधरी, भरत गोस्वामी, संजय दिघोरे, वसुधा वैद्य आदि ने प्रयास किया.