Published On : Wed, May 19th, 2021

मॉइल के खदानों में बिना ROYALTY वाली रेत की पूर्ति

Advertisement

– कैची(KAICHI) व कांद्री(KANDRI) खदानों में देखी जा सकती हैं नज़ारा

नागपुर : जिले के रेत माफियाओं द्वारा मॉइल खदानों के स्थानीय प्रबंधनों के मध्य गहरी सांठगांठ के तहत मैंग्नीज निकालने बाद हुए गड्ढों में भरण के लिए बिना ROYALTY वाले रेत को तरजीह दी जा रही.इस मामलात की जानकारी जिलाधिकारी,संबंधित SDO,तहसीलदार,जिला खनन अधिकारी को होने के बाद भी उनकी चुप्पी उक्त अवैध कृत को बढ़ावा दे रही हैं.

Advertisement

याद रहे कि मॉइल की नागपुर जिले के कैची(KAICHI) व कांद्री(KANDRI) खदानों से मैंग्नीज उत्खनन बाद हुए गड्ढों को भरने के लिए रेत सह पानी का इस्तेमाल किया जाता हैं.इसके लिए एक ओर विधिवत टेंडर निकाले जाते हैं तो दूसरी ओर फर्जी/बिना रॉयल्टी वाली रेती से गड्ढे भरे जा रहे.बाद में इन्हें टेंडर दर पर भुगतान किया जाता हैं.

Advertisement
Advertisement

MOIL को फर्जी/बिना रॉयल्टी की रेत आपूर्ति करवाने के लिए रामटेक विधानसभा क्षेत्र के छुटभैय्या तथाकथित नेता सक्रिय हैं,वे वाघोड़ा और पलोरा रेत घाटों से रेत परिवहन कर मॉइल के उक्त खदानों में रोजाना सैकड़ों ट्रक/टिप्पर/ट्रैक्टर रेत डाल रहे.

उक्त खदानों के परिसर में इन बिना रॉयल्टी वाले गाड़ियों को देखा जा सकता हैं.

उक्त मामले को लेकर एमओडीआई फाउंडेशन ने मॉइल प्रबंधन से मांग की हैं कि उक्त मामले पर तत्काल पाबंदी लाए और सम्बंधित दोषियों पर कड़क कार्रवाई की जाए.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
 

Advertisement