Published On : Tue, Jul 7th, 2020

चुनिंदा ठेकेदार प्रतिनिधियों का केंद्र बिंदु अधीक्षक अभियंता विभाग

– अधीक्षक के निर्देश पर उपअभियंता ने मोर्चा संभाल रखा हैं,जल्द हो सकती हैं बड़ी कार्रवाई ?

नागपुर : मनपा के चर्चित अधीक्षक अभियंता के कारनामें मनपा के ऊर्जावान आयुक्त के कानों तक खबर पहुँच चुकी हैं.समझा जा रहा कि आयुक्त की कार्यशैली के हिसाब से देर-सबेर अधीक्षक अभियंता और उनके दोहरे लाभार्थी उपअभियंता पर बड़ी कार्रवाई के संकेत मिल रहे.

इन दिनों अधीक्षक अभियंता का विभाग सबसे चर्चे में हैं.अभियंता बेख़ौफ़ होकर रोजाना बड़ी-बड़ी फाइलों को भुगतान हेतु बिना प्रयोगशाला के जाँच के सीधे वित्त विभाग में भेज रहे,गत दिनों ६४ लाख के कुछ ठेकेदारों का फाइल एक ही दिन में सभी औपचारिकता पूर्ण कर वित्त विभाग भेज दिए गए,इनमें ‘डीसी’ का भी फाइल हैं.


अमूमन विभाग का पूर्ण कार्यभार उपअभियंता उइके बखूबी संभाल रहे,इसके साथ ही मनपा प्रयोगशाला के नाम पर सफल प्रयोग को अंजाम दे रहे.इसलिए इनके इर्द-गिर्द दोपहर बाद चुनिंदा ठेकेदारों के प्रतिनिधियों का हुजूम देखा जा सकता हैं.

उक्त कारनामें को संरक्षण देने और खुद से सम्बंधित फाइलों को बिना खर्च किये निपटाने हेतु कुछ सफेदपोश दलाल सक्रिय हो चुके हैं,इनके सक्रिय होने के पीछे का तर्क यह भी हैं कि कहीं आयुक्त की वक्रदृष्टि उक्त दोनों अभियंताओं पर पड़ी तो बना-बनाया खेल बिगड़ जाएगा।

उक्त धांधलियां की खबर मनपायुक्त तक पहुँच चुकी हैं,अब देखना यह हैं कि आयुक्त उक्त दोनों अभियंताओं पर क्या कार्रवाई करते हैं या फिर उनके कारनामों को नज़रअंदाज कर उन्हें संरक्षण दे मनपा की कार्यप्रणाली पर विरोधियों को पुनः उंगलियां उठाने का मौका देंगे ?