सीधे चुनाव नहीं लड़ूंगी, कामठी से चंद्रशेखर (Chandrashekhar Bawankule) बावनकुले ही सही उमेदवार- सुलेखा कुंभारे (Sulekha Kumbhare)

नागपुर: 5 साल पहले भाजपा जब सत्ता में नहीं थी. तब उन्हें बहुजन रिपब्लिकन एकता मंच ने समर्थन दिया था. उसके बाद जब भाजपा सत्ता में आयी तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अनेको विकासकार्य किए. जिसके कारण इस बार भी हमने बिनाशर्त भाजपा को समर्थन घोषित किया है.

यह कहना है पूर्व मंत्री और बहुजन रिपब्लिकन एकता मंच की नेता सुलेखा कुंभारे का. वे 2 अक्टूबर बुधवार को प्रेस क्लब में आयोजित पत्र परिषद् में पत्रकारों को संभोधित कर रही थी. इस दौरान उन्होंने दो दिनों से व्हाट्सअप पर चल रहे मेसेज पर भी अपनी बात रखी. उन्होंने कहा की दो दिनों से चल रहा था की कामठी विधानसभा से उनको टिकट दिया जा रहा है, लेकिन ऐसी कोई बात नहीं है.

भाजपा (BJP) ने कहा था लेकिन उन्होंने खुद मना किया और मौजूदा विधायक और पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले (Chandrashekhar Bawankule)को ही मौका मिले. इसके लिए मुख्यमंत्री से बात भी की. कामठी से सही और उपयुक्त उमेदवार पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ही है. उन्होंने कहा की वे अब सीधे कभी भी चुनाव नहीं लड़ेगी.


कुंभारे ने कहा की आंबेडकरी जनता चैत्यभूमि जाते थे और उनकी मांग थी की इंदु मिल की जगह मिले. इसके लिए उन्होंने लगातार प्रयास किया और अब वहां पर बाबासाहेब का स्मारक बनाने का काम शुरू हुआ है. भाजपा की ओर से बाबासाहेब का लंदन स्थित घर लिया गया और वहां पर भी स्मारक बनाया गया. यह सभी काम मुख्यमंत्री देवन्द्र फडणवीस के नेतृत्व में पुरे हुए है. बाबासाहेब के विचार अब पूरी दुनिया में उसके माध्यम से फ़ैल रहे है. कुशीनगर, बोधगया को जोड़ने के कार्य के लिए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से कहा गया था जिसके बाद अब काम शुरू हुआ है. इन जगहों पर रोड कनेक्टिविटी के तहत 10 हजार किलोमीटर की सड़के बनाई जा रही है.

उन्होंने कहा की दीक्षाभूमि के विकास के लिए भी 250 करोड़ रुपए का निधि सरकार ने दिया है. दीक्षाभूमि, चिंचोली और ड्रैगन पैलेस का भी विकास किया जा रहा है. उन्होंने कहा की वे अब कभी सीधे चुनाव नहीं लड़ेगी और भारत को बौद्धमय करने का कार्य करेगी. उन्होंने उम्मीद जताई है की इस बार भाजपा सरकार पहले से ज्यादा वोटों से जीत हासिल करेगी. ड्रैगन पैलेस के विकास के लिए भी 214 करोड़ रुपए का निधि मंजूर हुआ है.

उन्होंने आरपीआई पर कहा है प्रकाश आंबेडकर ने वंचित पार्टी बनाई है. अगर वे बाबासाहेब की पार्टी रिपब्लिकन से आगे बढ़ते तो सभी उनके साथ साथ होते. उन्होंने बताया की इस बार ड्रैगन पैलेस में 2 से 4 लाख लोगों की आने की उम्मीद है धम्मचक्र प्रवर्तन के दिन.