Published On : Wed, Oct 2nd, 2019

माता कुष्मांडा की जगमगाई ज्योत

सुराबर्डी दिव्य निर्मलधाम में सज रही मैया की झांकी

नागपुर: आचार्य सुधांशु महाराज प्रणीत विश्व जागृति मिशन के दिव्य निर्मलधाम, सुराबर्डी अमरावती रोड में नौरात्रि के अवसर पर नौ देवियों के दिव्य दर्शन व अनुष्ठान जारी है। बुधवार को चैथे दिवस माता कुष्मांडा की आराधना की गई। दिव्य निर्मलधाम सुराबर्डी में प्रतिदिन दर्शनों के लिए भक्तों की भीड़ उमड़ रही है।

पं. आचार्य शिवदत्त मिश्र के आचार्यत्व में माता कुष्मांडा का विशेष अनुष्ठान किया गया। मैया का विशेष श्रृंगार इस अवसर पर किया गया. पूजन के अवसर पर पं. मिश्र ने बताया कि मां का यह स्वरूप मंद- मंद मुस्कुराहट वाला है। कहा जाता है कि जब सृष्टि का अस्तित्व नहीं था, तो देवी भगवती के इसी स्वरूप ने मंद मंद मुस्काते हुए सृष्टि की रचना की थी। देवी कुष्मांडा का निवास सूर्यमंडल के भीतर के लोक में माना गया है।


वहां निवास कर सकने की क्षमता और शक्ति केवल देवी के इसी स्वरूप में है। देवी कुष्मांडा को हरा रंग प्रिय है। इस लिए यहां मैया का हरे रंग के वस्त्रों मंे श्रृंगार किया गया। गुरुवार को स्कंदमाता की विशेष पूजा होगी। महामंत्री दिलीप मुरारका ने भक्तों से शिवशिखर की गुफाओं में विराजमान माता वैष्णोदेवी और सभी देवियों का पूजन कर लाभ उठाने की अपील की है.