Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Tue, Dec 4th, 2018

    नागपुर के छात्र की दिल्ली में आत्महत्या

    नागपुर: शहर के फायर सर्विस कालेज में पढ़ने वाले एक छात्र ने दिल्ली में आत्महत्या कर ली. दिल्ली रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के सामने कूदकर उसने जान दी. इस घटना से परिजन गहरे सदमे में हैं. वहीं कालेज प्रबंधन भी सकते में आ गया. अपने सुसाइड नोट में छात्र ने कालेज के प्राध्यापक पर आरोप लगाए हैं. मृतक हेमंतकुमार नल्ली (19) बताया गया. हेमंत मूलत: आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम का रहने वाला था. राजनगर स्थित नेशनल फायर सर्विस कालेज में प्रथम वर्ष का छात्र था. कालेज में रोजाना सुबह और शाम को छात्रों की फॉलिंग होती है.

    30 नवंबर की रात हेमंत फॉलिंग में नहीं पहुंचा. कमरे में जाकर जांच करने पर वह दिखाई नहीं दिया. इसका मतलब है कि उसी रात को हेमंत कालेज परिसर से निकल गया था. परिजनों को इसकी जानकारी दी गई. साथ ही मानकापुर थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई. रविवार को उसने दिल्ली रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के सामने कूदकर जान दे दी. दिल्ली की लोहमार्ग पुलिस ने पंचनामा कर उसका शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा. हेमंत की जेब में पुलिस को कालेज का आईडी कार्ड और एक सुसाइड नोट मिला. आईडी कार्ड से हेमंत की पहचान हो पाई और मानकापुर पुलिस को सूचना दी गई. पुलिस ने उसके परिजनों और कालेज प्रबंधन को घटना की जानकारी दी.

    हेमंत ने नोट अंग्रेजी अक्षरों में लिखा था, लेकिन भाषा तेलुगू होने के कारण ज्यादा कुछ पुलिस को समझ नहीं आया, लेकिन मोबाइल से जानकारी मिल रही है कि हेमंत ने अपने पिता को वाट्सएप पर मैसेज भेजे थे, जिसमें उसने कालेज के एक प्राध्यापक द्वारा सेमिस्टर में पास करने के लिए 35,000 रुपये मांगे जाने की बात कही थी.

    अब इस बात में कितनी सच्चाई है ये तो परिजन ही बता सकेंगे. सोमवार को हेमंत के परिजन दिल्ली पहुंचे. वहां से उसका शव विशाखापट्टनम ले जाया जाएगा. अब सवाल ये उठता है कि हेमंत दिल्ली क्यों गया? दिल्ली जाकर आत्महत्या करने का कारण क्या हो सकता है? यदि वह परेशान था तो अपने घर भी जा सकता था.


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145