Published On : Sat, Oct 17th, 2020

ब्रॉड गेज मेट्रो परियोजना को राज्य सरकार की मंजुरी

ब्रॉड गेज मेट्रो: इस प्रकार की देश मे पहली सेवा

नागपुर : आज महाराष्ट्र राज्य मंत्री मंडल ने महा मेट्रो के ब्रॉडगेज (बीजी) मेट्रो प्रस्ताव को मंजुरी दी ! रु. ३३३.६० करोड कि यह परियोजना नागपुर – नरखेड, वर्धा, भंडारा और रामटेक इन परिसर के सॅटेलाईट शहरो को हाय-स्पीड कनेक्टिव्हिटी प्रदान करेगी ! राज्य मंत्रिमंडल ने इस प्रस्ताव को मंजूर करने से अब केंद्र सरकार के पास मंजुरी के लिए राज्य सरकार द्वारा भेजा जाएगा ! परियोजना के कार्यान्वयन के बाद मेट्रो के कोच भारतीय रेल के पटरी पर दौडते हुए दिखेगे !

प्रास्तवित ब्रॉड गेज मेट्रो परियोजना महा मेट्रो कि महत्वाकांक्षी परियोजना होने से नागपूर व परिसर के यातायात का पैटर्न बदलेगा ! इस परियोजना का मुख्य उद्दीष्ट नागपुर और चार उपग्रह शहर दरम्यान वातानुकूलित,गतीमान, विश्वासार्ह और आरामदायक सेवा प्रदान कर भारतीय रेल के विद्यमान पायाभूत ढाचा का उपयोग करना ! देश मे इस तरह की यह पहली सेवा है !

*उच्च दर्जे कि सेवा:* ब्रॉड गेज मेट्रो परियोजना नागपुर मेट्रो कि फीडर सेवा के तौर पर काम करेगी, जिससे निजी वाहन व परिवहन सेवा पर निर्भरता कम होगी साथ ही सडक मार्ग कि भीड कम होने मे मददगार साबित होगी और सडक अपघात व प्रदूषण कम करेगी ! चार मार्ग के परियोजना का कुल अंतर २६५ किमी है !

*जुलै २०१८ मे सामंजस्य करारापर हस्ताक्षर:* भारतीय रेल, महाराष्ट्र शासन और महा मेट्रो के दरम्यान १६ जुलाई २०१८ को सामंजस्य करार (एमओयू) किया गया ! तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री.देवेंद्र फडणवीस, केंद्रीय मंत्री श्री.नितीन गडकरी और श्री. पीयूष गोयल इस दरम्यान उपस्थित थे !

*राज्य सरकार और भारतीय रेल का आभार :* ब्रॉड गेज मेट्रो का प्रस्ताव आगे ले जाने मे भारतीय रेल ने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की ! महा मेट्रोने भारतीय रेल और महाराष्ट्र सरकार का ब्रॉड गेज मेट्रो परियोजना के सहकार्या के प्रति आभार व्यक्त किया !

*यातायात समय कम होगा:* नागपूर से वर्धा दरम्यान यातायात के लिए २.२५ घंटे का समय लगता है ! इस तुलना मे प्रस्तावित सेवा के माध्यम से सिर्फ १. १० घंटे मे यह आसान होगा ! इसी तरह,नई सेवा शुरु होने से वक्त कि बचत होने के साथ यात्रीयो को आरामदायक प्रवास का लाभ मिलेगा और दुर्घटना टालीजा सकती है ! विशेषत: जो प्रवासी सडक से यात्रा करने को प्राधान्य देते है !

*ट्रेन की गती होगी १२० कि.मी. प्रति घंटा:* महा मेट्रो कि गाडी १२० कि.मी. प्रति घंटा से दौडगी सभी सुविधायुक्त आधुनिक कोच चार जगह के प्रवासीयो को यातायात उपलब्ध कराएगी. शुरुवात मे चार जगह से जोडने के लिए चार गाडीयो कि सेवा रहेगी और धीरे-धीरे इस मे वृद्धी होगी और निश्चित अंतराल के बाद यह आठ तक जाएगी !

*परियोजना को वित्त पूर्तता के लिए केएफडब्ल्यू तयार:* बीजी मेट्रो परियोजना नागपुर मेट्रो को फीडर सर्व्हिस सेवा के तौर पर कार्य करने के लिए फायदेमंद होगी और अभी कि यातायात मे बढोतरी करने के लिए फायदेमंद होगी ! महा मेट्रो के पहले चरण के परियोजना को वित्त पूर्तता करनेवाली आंतरराष्ट्रीय वित्तसंस्था एजन्सी – केएफडब्ल्यू ने बीजी मेट्रो परियोजना को कुल ३०५.२० करोड रुपये अर्थसहाय्य देने को तयार है !

परियोजना को कार्यान्वित करने के लिए राज्य सरकार ने सहाय्य तौर पर केंद्र सरकार के कर का ५०% (रु. ७. १० करोड ) और राज्य सरकार कर का १००% ( रु. १४.२० करोड ) ऐसे कुल रु. २१.३० करोड राज्य सरकार ने मंजूर किया है और शेष भागीदारी केंद्र सरकार की होगी !

इस परियोजना से नागपुर मे जाने का मार्ग बदलेगा इससे नागपुर ही नही तो देशभर के अग्रणी परियोजना के तौर पर यातायात संकल्पना कि क्रांती आयेगी !