Published On : Fri, Jan 11th, 2019

बिजली का बकाया मांगा तो पुलिसवाला बनकर धमकाया

Advertisement

नागपुर: उलटे चोर कोतवाल को डांटे की कहावत शहर में तब दोहराई गई जब बिजली का बकाया मांगने गई एसएनडीएल की टीम को बकाएदार ने पुलिस बनकर धमकी दे डाली.

शहर में बिजली चोरों के हौसले बुलंदी पर हैं. आज, दिनांक 10 जनवरी 2019 को एसएनडीएल की टीम ने सुबह लगभग 11 बजे एक बड़ी कार्रवाई के अंतर्गत मानकापुर रिंग रोड स्थित के.आर.सी. लॉन की बिजली काट दी. इस लॉन को ग्राहक क्रमांक 419990018309के माध्यम से बिजली आपूर्ति की जाती है जो कि इस लॉन के मालिक अयाज़ अली सय्यद के नाम पर है।

यह ग्राहक पिछले एक साल से बिजली बिल भरने में टालमटोल करता आ रहा था. एसएनडीएल के कर्मचारियो को धमकाते जा रहा था. 3 माह पूर्व भी जब एसएनडीएल की टीम बिजली आपूर्ति खंडित करने गई थी तब इस ग्राहक ने आर्थिक परिस्थिति खराब होने का हवाला देते हुए लगभग रु. 8 लाख की बकाया राशि में से मात्र रु. 50 हज़ार का चेक दिया और बाकी का जल्दी ही भर देने का आश्वासन दिया. यह चेक भी बाद में बाउंस हो गया जिसके कारण उस पर नेगोशिएबल इंस्ट्रूमेंट्स के अंतर्गत एफआईआर दर्ज करवाई गई है. उसके बाद 2 बार नोटिस भेजा गया तथा एसएनडीएल टीम ने कई चक्कर काटे, परंतु उक्त ग्राहक हर बार आमने-सामने मिलने से बच रहा था.

Advertisement
Advertisement

अतः आज सुबह इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया. उसके बाद लगातार उक्त ग्राहक एसएनडीएल कर्मियों को फोन कर उन्हें धमकाता रहा.

पुलिसवाला बनकर दी मोबाइल से धमकी, पर फोन नंबर सैय्यद के नाम पर!

कार्रवाई किए जाने पर उक्त ग्राहक ने एक कर्मचारी को पुलिसकर्मी बनकर कॉल किया तथा अभद्र भाषा के साथ ही ‘देख लेने’और ‘घर से उठा लेने’जैसी धमकियां दीं. इस मामले की गंभीरता को देखते हुए एसएनडीएल कर्मचारी द्वारा एफआईआर दर्ज करवाई गई है तथा उक्त ऑडियो के साथ वे इस संदर्भ में पुलिस कमिश्नर से भी मिले.

अपने स्तर पर पड़ताल करने पर एसएनडीएल टीम ने पाया कि जिस नंबर से यह धमकी भरा कॉल था, वह उक्त ग्राहक के नाम पर ही रजिस्टर्ड है. एसएनडीएल का मानना है कि संभवतः उक्त ग्राहक फर्जी रूप से पुलिस कर्मचारी बनकर पुलिस की छवि खराब करना चाह रहा है जो कि कानूनन अपराध भी है. उक्त ऑडियो में यह ग्राहक स्वयं को पीआई शिंदे के नाम से पेश करता पाया गया. बताते चलें कि पिछले वर्ष भी इस ग्राहक पर राशि बकाया होने के कारण विद्युत आपूर्ति खंडित की गई थी तथा तब भी इस ग्राहक ने एसएनडीएल कर्मियों को धमकाया था.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement