Published On : Wed, Dec 5th, 2018

लाखों का सम्पत्ति कर डिमांड थमाने में चुस्ति और स्वच्छता में सुस्ती

प्रभाग ११ के शिवकृष्ण धाम का सूरत-ए-हाल

नागपुर : एक ओर मनपा प्रशासन स्वच्छ भारत अभियान में रिकॉर्ड बनाना चाह रहा है तो वहीं दूसरी ओर मंगलवारी ज़ोन उनके मंसूबे पर पानी फेर रहा है. अनगिनत गुजारिशों के बाद भी ज़ोन के स्वास्थ्य विभाग प्रमुख अनदेखी करने में गुरेज़ नहीं करते. कोराडी मार्ग पर वॉक्स कूलर फैक्ट्री के पीछे शिवकृष्ण धाम नाम की बस्ती है. इस बस्ती को लाखों रुपए का सम्पत्ति कर का डिमांड थमाने में मनपा ने समय नहीं गँवाया लेकिन साफ सफ़ाई की ओर कभी घूम के भी नहीं देखा.

यह बसती प्रभाग ११ में मंगलवारी ज़ोन अंतर्गत आती है. इस बस्ती में ३८० कच्चे पक्के घर है. जिन्हें हाल ही में कच्चे मकानों को लगभग ४००० और पक्के मकानों को ११००० रुपए का सम्पत्ति कर का डिमांड थमाया गया है. इस बस्ती के बीच में प्रत्येक सोमवार को साप्ताहिक सब्जी बाज़ार लगता है. इस बाज़ार में सैंकड़ों लोग खरीदी और व्यापार करने आते हैं. लेकिन इतनी सघन बस्ती में स्वच्छता का अभाव है.


दूसरी ओर इस बस्ती में स्वच्छ भारत अभियान के तहत दो सार्वजनिक शौचालय का निर्माण अवैध रूप से किया गया है. जिसमें शौच के लिए न के बराबर नागरिक जाते हैं. इस शौचालय में उपलब्ध पानी से आसपास के नागरिक घरेलू इस्तेमाल के लिए रोज पानी ले जाते हैं.

उक्त ज़ोन के स्वास्थ्य विभाग प्रमुख बोकारे और नानेटकर को अनगिनत बार निवेदन किया गया लेकिन उन्होंने बराबर लोगों की अपील को अनदेखा किया. महापौर के विगत दौरे में इस बस्ती को शामिल नहीं किया गया. अर्थात मनपा प्रशासन को सिर्फ कर चाहिए और साफ सफाई मामले में हाथ खड़े करना आदत सी हो गई है.