Published On : Wed, Dec 26th, 2018

एनिमल एक्टिविस्ट पर गौ-पालकों ने किया जानलेवा हमला

नागपुर: मंगलवार को गांधीनगर में एक महिला एनिमल एक्टिविस्ट स्मिता मिरे के साथ परिसर के ही गाय पालनेवाले चार लोगों ने मारपीट की. जिसके बाद स्मिता ने इसकी एफआईआर अंबाझरी पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई है. पुलिस ने इस मामले में आरोपी पिंटू यादव समेत अन्य तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इसमें एक को गिरफ्तार किया गया है. स्मिता के अनुसार वह अपनी स्विफ्ट कार से गांधीनगर की तरफ जा रही थी.

आरोपी यादव के घर के सामने के टर्निंग से जाते समय सामने से एक गाडी आयी और सड़क पर ही यादव की ओर से गाय और भैसों को सड़क पर ही बाँध कर रखा जाता है. जिसके कारण सामने से आनेवाले वाहनचालक और भैसों को बचाने में स्मिता की कार का एक्सीडेंट हो गया. जिसके बाद स्मिता यादव के घर में बात करने के लिए गई. उसी समय यादव के परिवार से दो महिला ने मारपीट की तो वही अन्य व्यक्तियों ने गालीगलौच और छेड़खानी भी की. स्मिता ने बताया कि दो से तीन पहले ही उन्होंने आरोपी के खिलाफ पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई थी.

कई वर्षो से यादव परिवार के लोग इस परिसर में गायों को पालने का काम करते है. सड़क पर ही मवेशियों को बेरहमी से बाँधने की वजह से एक तो आने जानेवालो के लिए रास्ता नहीं होता और दुर्घटना भी होने का खतरा रहता है. स्मिता के अनुसार पुलिस एफआईआर के बाद यादव के परिजन लोगों को गवाही नहीं देने के लिए धमका भी रहे है. उन्होंने बताया की यादव के परिजनों से उनकी जान को भी खतरा है.

स्मिता कई वर्षो से हजारी पहाड़ में एक एनजीओ चला रही है. जिसमें लावारिस श्वानों का इलाज किया जाता है साथ ही इसके दूसरे लावारिस जानवरों का भी इलाज किया जाता है. किसी भी तरह का डोनेशन इस संस्था को नहीं मिलता है अपने खर्च पर वे इसका संचालन करती है. उन्होंने बताया कि कई बार इस तबेले के बारे में नागपुर महानगर पालिका में शिकायत की गई है. लेकिन किसी भी अधिकारी ने अब तक कार्रवाई नहीं की है.

इस पुरे मामले में अंबाझरी पुलिस स्टेशन के पुलिस निरीक्षक भीमराव खंडाले ने जानकारी देते हुए बताया कि इस मामले में एक को गिरफ्तार किया गया है. कुछ दिन पहले एक्टिविस्ट की ओर से शिकायत करने पर आरोपियों को समझाया गया था. इस मामले में पुलिस कार्रवाई करेगी.