Published On : Wed, Jul 22nd, 2020

कोरोना में भी Msedcl की लूट : सोमवारी पेठ में ग्राहक को 20 हजार रुपए का बिजली बिल भेजा

नागपुर– कोरोना संक्रमण में मार्च महीने में लॉकडाउन किया गया था. कोरोना के साथ साथ लॉकडाउन की परेशानी में ही नागपुर शहर के लाखों नागरिकों को और एक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. जिसकी तरफ सरकार का ध्यान होने के बावजूद भी इस समस्या पर वो गंभीर दिखाई नहीं दे रही है. जून महीने में लॉकडाउन के बाद से जिस तरह से बिजली के बिल ( Electricity Bill ) नागरिकों को भेजे गए है, उसके कारण नागरिकों के होश उड़ गए है. ‘ नागपुर टुडे ‘ ने पहले भी हजारों रुपए के बिजली के बिलों की खबर प्रकाशित की है और लगातार नागरिकों की समस्याओ को लेकर अनाप-शनाप बिजली बिल ( Electricity Bill ) की शिकायतें हमें प्राप्त हो रही है.

ऐसे ही सोमवारी पेठ में रहनेवाले प्रकाश चौधरी और उनके बेटे परितोष चौधरी जो एक ही घर में रहते है और दोनों के अलग अलग मीटर है. उनको जून 2020 में जो बिजली बिल दिया गया, वह लगभग 20,000 रुपए का है, इसमें से प्रकाश चौधरी का बिजली बिल ( Electricity Bill ) 16,080 रुपए का और उनके बेटे के ऊपर के रूम का बिल 4,000 रुपए है. अब ऐसे में उनकी समझ नहीं आ रहा है की लॉकडाउन के बाद आखिर उनका बिल इतना ज्यादा कैसे आ गया. उन्हें यह बिल एवरेज के नाम पर दिया गया है. प्रकाश चौधरी ने जानकारी देते हुए बताया की बिजली का बिल एक ही घर में अलग अलग मीटर होने के बावजूद भी करीब 20,000 रुपए आना गलत है.चौधरी ने बताया की अभी तक उन्होंने यह बिल नहीं भरा है और वे तुकडोजी चौक स्थित महाराष्ट्र राज्य विघुत वितरण कंपनी ( Msedcl ) के ऑफिस जाते है तो वहां पर भीड़ काफी ज्यादा होने की वजह से वापस आ जाते है. उनका कहना है की महाराष्ट्र राज्य विघुत वितरण कंपनी ( Msedcl ) ने बहोत ज्यादा बिल भेजा है.

आप देख सकते है कि नागपुर शहर में महाराष्ट्र राज्य विघुत वितरण कंपनी ( Msedcl ) के कार्योलयों के सामने रोजाना बढे हुए बिजली बिल ( Electricity Bill ) की समस्याओ को लेकर नागरिकों की भीड़ है. लेकिन सरकार की ओर से किसी भी तरह की राहत की बात या घोषणा नहीं की जा रही है, राहत के नाम पर लोगों को किश्त ( Installment ) में भरने की सहूलियत दी जा रही है. पिछले महीने का ही हजारों रूपए का बिजली बिल ( Electricity Bill ) अब तक नागरिक नहीं भर पाए है और ऐसे में अब इस महीने में भी नागरिकों को पिछले बिल के साथ ऐड होकर नए बिल के एसएमएस भेजे जा रहे है. जिसके कारण अब नागपुर शहर के ग्राहक कोरोना के साथ साथ बिजली बिल ( Electricity Bill ) से भी परेशान हो गए है.