Published On : Tue, Jul 31st, 2018

स्लम की तर्ज पर मंदिरों का भी हो नियमितिकरण : जोशी, दटके

नागपुर: न्यायालय के आदेश का पालन करते हुए सड़क के मध्य, विकास कार्य व यातायात में बाधक धार्मिक स्थलों को तोड़ने का विरोध नहीं किया गया, लेकिन पब्लिक यूटिलिटी, खुली जगह पर निर्मित धार्मिक स्थलों को तोड़ने के विरोध का हम समर्थन करते हैं. इन धार्मिक स्थलों को वर्ष २००० तक की झोपड़पट्टियों को नियमित करने की तर्ज पर नियमित करने की मांग राज्य सरकार से मनपा सत्तापक्ष नेता संदीप जोशी और पूर्व महापौर प्रवीण दटके ने एक पत्रपरिषद के माध्यम से की है.

उक्त दोनों भाजपा नेताओं के अनुसार आज दोपहर त्रिमूर्ति नगर स्थित दत्त मंदिर को ढहाने मनपा और पुलिस दल पहुँचा था. जिसका सैकड़ों नागरिकों ने विरोध किया. विरोध को देखते हुए मनपा और पुलिस दल उल्टे पांव बिना कारवाई किए लौट गया. उक्त मामले को लेकर कल मनपा में सत्तापक्ष के सभी नगरसेवकों का शिष्टमंडल मनपायुक्त से मिलेगा और ३ अगस्त को इस संदर्भ में मनपा की विशेष सभा लेकर सभागृह की भावना से राज्य सरकार को अवगत करवाया जाएगा. उक्त मुद्दे को लेकर कल ही भाजपा की बैठक का आयोजन किया गया है.

उक्त नेताओं ने आगे जानकारी दी कि मनपा की विशेष सभा में न्यायालय को दी गई धार्मिक स्थलों की सूची गलत तैयार करने वाले अधिकारी व कर्मी पर कार्रवाई की मांग भी की जाएंगी. पिछले महीने हम न्यायालय गए थे, जिसकी सुनवाई २ अगस्त को होने वाली है. इस तरह हम कानूनी लड़ाई भी जारी रखे हुए हैं. राज्य के मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली राज्य स्तरीय समिति भी जल्द नीतिगत निर्णय लेने वाली है. आज शाम ७ बजे धार्मिक स्थल बचाव संघर्ष समिति की बैठक आयोजित की गई है जिसमें जोशी व दटके आमंत्रित किए गए हैं.