Published On : Tue, Dec 20th, 2016

सिन्धी नागरिकों के लीज स्वामित्व पट्टों का सर्वेक्षण शुरू

 

jethani

नागपुर: नागपुर शहर की हद में बसे सिन्धी समाज के नागरिकों को जारी लीज पट्टों के सर्वेक्षण का काम शुरू हो गया है. अपनी वर्षों पुरानी मांग के माने जाने से प्रसन्न शहर के सिन्धी समाज के गणमान्यों ने राज्य के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त किया है. यह जानकारी यहाँ जारी एक विज्ञप्ति में दी गई है.
विज्ञप्ति के अनुसार नागपुर शहर के सिन्धी समाज की ओर से सरकार से पिछले कई वर्षों से यह मांग की जा रही है कि शहर में जहाँ भी सिन्धी समाज के नागरिक बसे हैं, वहां सरकार सर्वेक्षण कराए और समाज के बाशिंदों को स्वामित्व के लीज पट्टे आवंटित करे. उल्लेखनीय है कि शहर के खामला, जरीपटका आदि क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर सिन्धी बंधुओं की रिहाइश है और इन क्षेत्रों में रहने वाले सिन्धी समाज के नागरिक अभी भी कई मूलभूत जरूरतों से सिर्फ इसलिए वंचित हैं क्योंकि उनके पास लीज पट्टों का स्वामित्व नहीं है, इसी के चलते ये मांग सरकार से विगत साठ सालों से की जा रही है.
सर्वेक्षण के उपरांत वाजिब नागरिकों को लीज के पट्टे वितरित किए जाने की जानकारी विज्ञप्ति में दी गई है.
विज्ञप्ति के जरिए पूज्य सिन्धी खामला पंचायत के नारायण आहूजा, भारतीय जानता पार्टी व्यापारी मोर्चा के कोषाध्यक्ष विनोद जेठानी, बब्बू परसवानी, लखीमचंद बुधरानी, राजू मंछानी, आनंददास आसुदानी, रमेश नाथानी, मोहन चावला आदि ने राज्य सरकार एवं मुख्यमंत्री श्री फडनवीस के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त किया है.