Published On : Wed, Aug 19th, 2020

सुशांत सिंह मामले में CBI जांचः संजय राउत ने साधी चुप्पी, बोले सरकार के प्रवक्ता करेंगे बात

मुंबई: सुशांत सिंह की मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं। इस आदेश के बाद शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत के सुर बदल गए। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र एक ऐसा राज्य है जहां कानून सबसे ऊपर है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर राजनीति करना ठीक नहीं है। सर्वोच्च न्यायालय ने इस मामले में अपना फैसला दिया है और पूरी जानकारी जब हमारे पास आएगी तो सरकार की तरफ से प्रवक्ता इस मामले में बात करेगा। वह कई सवालों पर चुप्पी साध गए।

राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र एक ऐसा राज्य है जहां कानून का राज है। यहां सत्य और न्याय की जीत हमेशा होती है। यहां पुलिस और यहां के शासन के लिए कानून से ऊपर कोई व्यक्ति नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया उस पर सरकार के कानून के जानकार बात करेंगे।

‘मेरे लिए इस पर बात करना ठीक नहीं’
संजय राउत ने कहा कि कानूनी कार्रवाई के बारे सरकार में जो कानून के जानकार हैं, मुंबई पुलिस के कमिश्नर या एडवोकेट जनरल ही सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर बात कर सकते हैं, मेरे लिए इस पर बात करना सही नहीं है।

‘बात दिल्ली तक जाएगी’
संजय राउत कुछ सवालों पर चुप्पी साध गए। उनसे जब पूछा गया कि बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने कहा है कि महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख को तुरंत इस्तीफा देना चाहिए। उनके इस बयान के सवाल पर संजय राउत ने कहा कि इस्तीफे की बात करना ठीक नहीं है। इस्तीफे की बात की गई तो यह बात दिल्ली तक जाएगी।

‘राजनीति बंद करें’
संजय राउत ने कहा कि सुशांत सिंह के मामले में पहले दिन से राजनीति चल रही है। अब राजनीति बंद होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अब सुप्रीम कोर्ट ने इस पर फैसला लिया है तो सरकार फैसले का आदेश पढ़ने के बाद फैसला करेगी।

सुशांत के परिवार और पिता पर की थी विवादित टिप्पणी
आपको बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत के मामले में मुंबई पुलिस की जांच पर सवाल उठ रहे थे। संजय राउत इस मामले में लगातार विवादित बयान दे रहे थे। संजय राउत ने 9 अगस्त को सामना में लिखे संपादकीय में कहा था कि सुशांत के पिता ने दूसरी शादी की थी और सुशांत के अपने पिता से रिश्ते अच्छे नहीं थे। इसी वजह से वह परेशान रहते थे। इसके अलावा संजय राउत ने कई गंभीर आरोप लगाए थे। इसके बाद संजय राउत पर माफी मांगने का दबाव पड़ा लेकिन उन्होंने माफी नहीं मांगी।

परिवार को धमकी भरे लजहे में कहा था चुप बैठें
संजय राउत ने सुशांत के परिवार से माफी मांगने की बजाए फिर से बयान दिया और धमकी भरे लहजे में कहा था कि सुशांत का परिवार आखिर चाहता क्या है। इसके बाद उनका छह दिन पहले बयान आया कि मुंबई पुलिस की जांच अब लगभग खत्म होने वाली है और ऐसे में सुशांत के परिवार को चुप बैठना चाहिए। राउत ने यह भी कहा कि जो नेता बिना वजह बयान बाजी कर रहे हैं और राजनीति कर रहे हैं उन्हें भी चुप बैठना चाहिए।