Published On : Wed, Nov 22nd, 2017

शिवसेना ने ब्रिटिश राज से की मोदी सरकार की तुलना, कहा- नोटबंदी ने लोगों को भिखारी बना दिया

Municipal Elections
मुंबई: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘भारत को भगवान का उपहार’ बताने वाले भाजपा नेताओं पर कटाक्ष करते हुए इसके सहयोगी दल शिवसेना ने मंगलवार को कहा कि नागरिक भगवान हैं लेकिन सरकार ने नोटबंदी के बाद उन्हें भिखारी बना दिया। शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में कहा कि औपनिवेशिक दौर में कई लोगों ने ब्रिटिश शासन को ‘ईश्वर का शासन’ बताया था। शिवसेना ने कहा कि लेकिन ब्रिटिश सरकार ईश्वर का उपहार नहीं थी क्योंकि इसने केवल जनता को लूटा। मुखपत्र में कहा गया, ‘‘वे ‘फूट डालो और शासन करो’ के सिद्धांत से यहां 150 साल डटे रहे। जो लोग मानते हैं कि वर्तमान सरकार ईश्वर की सरकार है, उन्हें ईश्वर का अपमान करना बंद करना चाहिए। नागरिक ईश्वर हैं और वे नोटबंदी के फैसले के कारण भिखारी बन गए हैं।’’

शिवसेना ने मोदी सरकार पर कई मुद्दों का श्रेय लेने के लिए बड़ी मात्रा में धन विज्ञापन पर खर्च करने का आरोप भी लगाया। शिवसेना ने सवाल किया कि वह विदर्भ में कीटों के कपास की खेती पर हमले पर चुप क्यों है। बुलेट ट्रेन पर व्यंग्यात्मक टिप्पणी में, शिवसेना ने कहा कि यह परियोजना मोदी सरकार का ‘‘उपहार’’ है। उन्होंने पूछा कि उसने तब श्रेय क्यों नहीं लिया जब तीन दिन पहले मुंबई में मलाड और गोरेगांव स्टेशनों के बीच पटरी पार करते वक्त एक ट्रेन से कुचलकर तीन महिला श्रमिकों की मौत हो गई थी।

शिवसेना ने मंगलवार को ही आश्चर्य जताया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में से अबतक किसी ने क्यों नहीं मानुषी छिल्लर के ‘मिस वर्ल्ड’ चुने जाने पर क्रेडिट लेने का दावा किया। शिवसेना ने पार्टी के मुखपत्र ‘सामना’ और ‘दोपहर का सामना’ के संपादकीय में भाजपा पर तंज कसते हुए लिखा, “हरियाणा की इस सुन्दर महिला ने निश्चित ही 17 वर्षों के अंतराल के बाद विश्व सुंदरी का ताज जीतकर देश को गौरवान्वित किया है। यह केवल (नरेंद्र मोदी-अमित शाह) सरकार की वजह से ही संभव हो सका, जिसने दैवीय आशीर्वाद के साथ सत्ता संभाली थी।”