Published On : Tue, May 22nd, 2018

खामगांव पुलिस ने किया इंसानियत को शर्मसार

नागपुर: महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले के खामगांव पुलिस की शर्मनाक हरकत सामने आयी हैं. जिससे एक बार फिर पुलिस विभाग शर्मशार हुआ है. जानकारी के अनुसार खामगांव के आठवड़ी बाजार में एक लावारिस शख्स जमीन पर पड़े होने की जानकारी खामगांव पुलिस को मिलते ही घटना स्थल पहुंची पुलिस ने जमीन पर पड़े लावारिस शख्स कौन है, वह बेहोश है या उसकी मौत हो गई है इसकी छानबीन किए बिना ही पुलिस ने उसे मृत घोषित कर उसे सफेद कपड़े में लपेटकर पैडल चकला में डालकर सरकारी अस्पताल के पोस्मार्टम रूम में पहुंचाकर लाश के साथ बदसलूकी का कारनामा कर अपनी बुरी छवि को एकबार फिर उजागर की है. इस घटना से महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले के खामगांव पुलिस का चेहरा एक बार फिर शर्मसार हुआ हैं.

इस मामले में बुलढाणा पुलिस प्रशासन से पूछे जाने पर उन्होंने पल्ला झाड़ते हुए कहा कि ऐसी कोई घटना ही नही हुई पुलिस ने इस मामले में पल्ला झाड़ लिया है. पंचनामा कर लावारिस शव की पहचान पुलिस ने करली है. 50 वर्षीय राजेश गवई नामक की यह लाश है. जो कि तेल्हारा के रहनेवाले थे जो अपने रिश्तेदार के यहाँ खामगांव में आये थे. राजेश गवई ने जिंदा रहते हुए अपने सपने भी नही सोचा होगा कि उसके मरने के बाद उसकी लाश के साथ ऐसा व्यवहार किया जाएगा.

देखा जाए तो नियम से पुलिस ने ऐसे वक्त तत्काल वैद्यकीय जाँच कर व्यक्ति जिंदा है या मृत हैं इसकी घोषणा करना आवश्यक हैं, ऐम्बुल्स बुलाकर उसमे लाश ले जाना आवश्यक है. लेकिन आज हुई इस घटना ने एक बार फिर पुलिस का शर्मनाक चेहरा और करतूत सबके सामने ला दी है.

—By Narend Puri