Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Tue, May 22nd, 2018

    सारा मामला सेट है : सावजी होटलों में धड़ल्ले से बिक रही शराब

    Usha Wine Shop and Desi

    नागपुर: पुलिस प्रशासन और आबकारी विभाग के नियमों को ठेंगा दिखाते हुए शहर में हर तरफ बिना सरकारी परमिट अधिकांश होटलों में धड़ल्ले से शराब परोसने का काला कारोबार सरेआम चल रहा है। इलाका कोई भी हो, थाना चाहे जो हो, उस इलाके का हर सावजी होटेल, ढाबा और विशेषत मांसाहार पदार्थ बेचने वाली दुकानें, हर जगह सोमरस रूपी जहर परोसा जा रहा है। आबकारी विभाग जिसके पास इन सभी दुकानों की जानकारी है। सम्बंधित थाने के सभी अधिकारी और कर्मचारी को इनसबकी खबर है।

    शहर में मौज़ूद इन सैकड़ों अवैध शराब बिक्री केंद्रों पर इन दोनों विभाग के लोगों की आमद और मुलाकात भी, पर नहीं होती तो वो है कार्यवाही।
    कुछ जगह शराब बेची जाती है तो कुछ जगह ग्राहक ले आते हैं। बिना परमिट और वैध मान्यता वाली होटलों में टिश्यू पेपर ग्लास पर लपेट कर पी लो जितनी पीनी है। किसी का डर नहीं न कोई कार्यवाही की झंझट।

    इन जगहों के संचालकों से पर पूछने पर वो हिम्मत बढ़ा कर आश्वस्त करते हैं, ‘सब सेट है भाई कोई चिंता नहीं, हम सबको बांटते हैं’। वर्धा रोड हो या कोराडी रोड, रिंग रोड या उमरेड रोड, इन सभी रास्तों पर आने वाले इलाके शराब से लबरेज आप पाएंगे। मोटी-मोटी रकम सम्बंधित थाने में पहुंचाए जाने की हामी के साथ बिना रोकटोक अवैध धंधा चलाने का राज भी बेहद आसानी से ये कारोबारी बता देते हैं। शराब पीकर निकलने वाले लोटपोट ग्राहक कभी दुर्घटनाओं का शिकार होते हैं तो कभी आपसी विवाद का। सरकारी टेक्स के साथ ही सामजिक ढांचे को जो नुकसान इस तरह के व्यवसायी और उनके साथ मिले पुलिस और आबकारी विभाग के लोग कर रहे हैं दूरगामी रूप से उसके परिणाम गम्भीर होंगे।

    हर इलाके के अवैध व्यवसाय उसके प्रमाण और भष्टाचार के चलते उन्हें मदत करने वाले प्रशासनिक लोगों की सूची भी नागपुर टुडे प्रकाशित करेगा।

    शुरआत करते हैं वर्धा रोड से बेहद व्यस्त राष्ट्रीय माहमार्ग इस रोड पर कई होटल रेस्टोरेंट है लेकिन असल चांदी सावजी के नाम से चल रहे होटलों की है। यह कहने को तो नागपुर का प्रसिद्ध सावजी खाना मिलता है, लेकिन सावजी की आड़ में क्या होता है यह नागपुर टुडे ने वीडियो क्लिप के माध्यम से आपको दिखाया है। ये है वर्धा रोड का मसहूर सावजी रोहित सावजी बाकी होटल से अधिक यहाँ भीड़ है लोग अपने बारी का इंतजार करते दूर खड़े हैं, लेकिन इस भीड़ की वजह है यहां शराब का मिलना।

    दरअसल इस सावजी होटल में खुले आम शराब पीने की छूट है। आप अपने साथ शराब लाएं या आप का मन हो तो यह इन सावजी के कर्मचारियों से शराब खरीद लें और बिना किसी के डर के यहां खुले में शराब पीजिये। क्योंकि इस सावजी के मालिक का दावा है कि वो पुलिस को देन देता है। यानी हर महीने पुलिस को पैसे देता हैं। ऐसे में यहाँ छापा मारे जाने का कोई डर नहीं। रहा आबकारी विभाग का, वो भी अपने में मस्त है।

    अब इस विभाग को मालिक कितना पैसा देता हैं ये तो नहीं बताया लेकिन जिस तरह से यह शराब बिक रही है, लोग शराब पी रहे है, भीड़ लगी है, ऐसे में तय है कि यह किसी को कोई डर नहीं है और हो भी क्यों ? क्योंकि पुलिस तो इनके जेब में है जैसे ये दावा कर रहे हैं! इसी रोहित होटेल से कुछ ही दूर स्थित है उषा वाइन शॉप तथा देशी शराब दुकान। यहां लगता है जैसे रोज शाम को मेला लगता हो। सैकड़ों की तादात में लोग बिना परमिट रूम या कहे पंडाल के निचे बड़े मजे से शराब का सेवन करते हैं। सबूत के तौर पर वीडियो भी इस खबर के साथ पेश किया जा रहा है।

    पर इस स्वछंद तरीके से शराब की बिक्री, उसका सेवन और प्रदर्शन किन नियमों में आता है, यह तो सम्बंधित विभाग ही बताए।

    —By Narend Puri


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145