Published On : Fri, Apr 13th, 2018

जेएनयू छात्रसंघ की शैला रशीद ने जमकर साधा भाजपा पर निशाना


नागपुर: अंबाझरी रोड स्थित अमृत भवन में शुक्रवार को भारतरत्न डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर की 127 जयंती के अवसर पर ‘वर्तमान परिपेक्ष्य और लोकतांत्रिक चुनौतियां’ विषय पर व्याख्यान हुआ. जिसमें प्रमुख रूप से मुख्य वक्ता के तौर पर जेएनयू छात्रसंघ की पूर्व उपाध्यक्ष शैला रशीद पहुंची थीं. व्यख्यान में उन्होंने आरएसएस और भाजपा पर जमकर निशाना साधा. इस दौरान उन्होंने कहा कि आज अगर भाजपा गर्व से कहती है कि हमने एक दलित को राष्ट्रपति बनाया है तो उसके पीछे बाबासाहेब के विचारों का और उनके संघर्ष का बहुत बड़ा हाथ है.

शैला ने कहा कि मनुवादी सोच के अनुसार एक दलित का काम केवल सेवा करना ही है. कचरा उठाना, मरी हुई गाय उठाना ही है. उन्होंने जिग्नेश मेवानी की तारीफ़ की तो वहीं चंद्रशेखर रावण की गिरफ्तारी पर भी उन्होंने सवाल उठाए. साथ ही फिलहाल देश में चल रहे कठुआ और उन्नाव में हुए दुष्कर्म कांड पर भी उंगलियां उठाई.

शैला ने कहा कि बाबासाहेब के विचारों को हमें सभी तक पहुंचाने की जरूरत है. गोरखपुर की गीता प्रेस 2 से 10 रुपए में किताबें बेचते हैं और प्रचार करते हैं. उसी तरह बाबासाहेब की किताबों को भी हमें लोगों तक पहुंचाना चाहिए. उन्होंने कहा कि भाजपा ने बलात्कारी बचाव अभियान शुरू किया है. इस कार्यक्रम में रमेश जीवने, मोहित पांडे, जयंत इंगोले और गुरमीत सिंह मंच पर मौजूद थे.