Published On : Tue, Sep 22nd, 2020

वरिष्ठ आंबेडकरवादी साहित्यकार डॉ. भाऊ लोखंडे का निधन

नागपुर– वरिष्ठ आंबेडकरी साहित्यिक डॉ. भाऊ लोखंडे का मंगलवार सुबह निधन हो गया. वे 78 वर्ष के थे. सामाजिक कार्यकर्ता, साहित्यकार, रिपब्लिकन स्टूडेंट्स फेडरेशन के प्रणेता और बौद्ध दलित साहित्य के मूवमेंट में महत्वपूर्ण योगदान देनेवाले डॉ. भाऊ लोखंडे यह आंबेडकरवादी विचारवादी थे. उनका जन्म 15 जून 1942 को हुआ था. डॉ. भाऊ लोखंडे यह राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर यूनिवर्सिटी में पोस्ट ग्रेजुएट पाली प्राकृत विभाग के पूर्व रीडर और डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर अध्यासन विभाग के प्रमुख थे. उन्होंने अनेक संस्थाओ में और कार्यकारिणियों में विभिन्न पदों पर काम किया है. विदर्भ साहित्य संघ दलित साहित्य सम्मेलन के वे अध्यक्ष भी थे.

मराठी संत साहित्य पर बौद्ध धर्म का प्रभाव इस विषय पर डॉ. भाऊ लोखंडे ने पीएचडी के लिए रिसर्च भी लिखा है. इसके साथ ही रूस की बौद्धधर्म किताब भी लिखी है. अंधश्रद्धा निर्मूलन कार्यो को उन्होंने हमेशा ही प्रोत्साहित किया है. वे आंबेडकरी मूवमेंट की अनेक संस्थाओ, संघटनाओ के मार्गदर्शक भी थे.

Advertisement

उनके द्वारा लिखी गई मराठी किताबों में ‘ अयोध्या कुणाची ? रामाची ? बाबरची ? की बुद्धाची ? , डॉ.आंबेडकरी हितशत्रूंच्या जाणिवा, मराठी संत साहित्यवर बौद्ध धर्माचा प्रभाव, महाकवि अश्वघोष रचित बुद्धचरित,राशियातील बौद्धधर्म थी.

Advertisement

डॉ. भाऊ लोखंडे के निधन से आंबेडकर मूवमेंट में शामिल बुद्धजीवी, कार्यकर्ताओ और संघटनो ने एक मार्गदर्शक खो दिया है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement