Published On : Tue, Oct 1st, 2019

सीएमपीडीआई क्षेत्रीय संस्थान नागपुर मे ‘फाईट अग्नेस्ट सिंगल युज प्लास्टीक’ विषय पर सेमिनार संपन्न

नागपूर: आज दिनांक 01 अक्तूबर को कोल इंडिया की अनुषंगी कंपनी सीएमपीडीआई क्षेत्रीय संस्थान-4 नागपुर मे ‘फाईट अग्नेस्ट सिंगल युज प्लास्टीक’ विषय पर क्षेत्रीय निदेशक श्री राजेश कुमार ‘अमर’ की अध्यक्षता में भव्य सेमिनार आयोजन किया गया है, इस आयोजन के मुख्य अतिथि श्री जयशंकर पाण्डेय, मुख्य वैज्ञानिक, सी एस आई आर , नीरी थे |

इस अवसर नागपुर में कार्यरतअधिकारियों व कर्मचारियों सहित ,पावर ग्रिड,पेसो,सी एम पी एफ,ई एस आई सी,बी एस एन एल , निदेशक डाक लेखा कार्यालय,एन एस ओ के प्रतिनिधियों ने भाग लिया । कार्यक्रम की शुरुआत मे क्षेत्रिय निदेशक महोदय ने श्री पांडे एवं अन्य वक्ताओं का सम्मान शाल एवं पुष्प गुच्छ दे कर किया । कार्यक्रम के दौरान क्षेत्रीय निदेशक महोदय ने यह संदेश दिया की सभी को सिंगल यूज़ प्लास्टिक की इस लड़ाई मे निजी तौर पर योगदान देना होगा तभी हम सिंगल यूज़ प्लास्टिक की इस लड़ाई को लड़ पाएंगे .

इस सेमिनार के दौरान सिंगल यूज़ प्लास्टिक के दुष्प्रभावों एवं इसके इतिहास पर सार्थक चर्चा हुई। साथ ही श्री पांडे द्वारा आचरण एवं पर्यावरण के संबंध ही अत्यंत सुंदर व्याख्या की गयी । इस सेमिनार के माध्यम से वक्ताओं ने प्लास्टिक से जलीय एवं स्ठ्लीय जीवों पर पड़ने दीर्घकालिक दुष्प्रभावों पर भी चर्चा की एवं बांग्लादेश एवं रवांडा जैसे देशो के सफल उदाहरणो को भी बताया गया । इस कार्यक्रम में वक्ताओं के तौर पर श्री पाण्डेय सहित श्री राजेश रलहन,श्रीमति जसप्रीत के काहलों,श्री संदीप शर्मा, सुश्री प्रियंका तिवारी इत्यादि ने भाग लिया एवं समापन सम्बोधन श्री मोहन, महाप्रबंधक (विद्युत एवं यांत्रिकी) द्वारा दिया गया ।

कार्यक्रम के समापन के अवसर पर उपस्थित जन समूह ने हृदय से यह बात स्वीकारी कि, इस सेमिनार मेंरखे गए विचारों से प्राप्त जानकारी से उनके अंदर प्लास्टिक के उपयोग को लेकर विचारों में पूर्ण समझ एवं परिवर्तन आया है | भारी जन सहयोग के कारण कार्यक्रम अत्यधिक सफल रहा है |

इस कार्यक्रम का संचालन श्री विक्रांत त्रिवेदी द्वारा किया गया । इस अवसर पर मुख्य रूप से श्री अभय कुमार,श्री एम के रेड्डी, श्री के ए पंडियन, श्री राजेश पांडे,श्रीमती पूनम सिंह,श्रीमती जी तेजस्वी,श्रीमती रेखा चक्रबोर्ती,श्री ए के मुखर्जी,श्री हरी पाल, श्री बी सी नौटियाल,श्री आर एम हरडे आदि उपस्थित रहे.