Published On : Tue, Nov 18th, 2014

भद्रावती : शालेय पोषण आहार महिला कर्मचारियों का आंदोलन ख़त्म


महिला कर्मचारियों को वापिस नौकरी पर नियुक्त करने का आदेश

AAytak aandolan  (1)
भद्रावती (चंद्रपुर)।
आयटक सलग्नित राज्य शालेय पोषण आहार कर्मचारी संघटना की ओर से शालेय पोषण आहार कर्मचारियों को नौकरी पर वापिस नियुक्त करने तथा अन्य मांगों को लेकर पंचायत समिती कार्यालय के सामने 10 नवंबर से बेमुदत आंदोलन किया गया था. करीब सात दिनों बाद प्रशासन की निंद खुली और मांगो को मंजुर किया गया. आखिर पंचायत समिती के गट शिक्षणाधिकारी आर.डी.पाटिल और शिक्षण विस्तार अधिकारी एस.एम.शेंडे ने पंडाल में आकर आंदोलनकर्ता महिलाओं को निम्बु पानी पिलाकर लिखित मंजूरी पत्र देकर आंदोलन ख़त्म किया गया.

AAytak aandolan
इस आंदोलन में जिप प्राथ. शाला मांजरी की मंदा चिवड़े, कलावती यादव, कोंडा की संगीता वादेकर, जेना की मंगला घोड़े, कर्मवीर विद्यालय मांजरी की छाया मोहितकर, मीराबाई बावने, मंगला पंधरे, जिप प्राथ. शाला काटवल की लक्ष्मी नेवारे, मंजुला नेवारे इन कर्मचारि महिलाओं का समावेश था. गट शिक्षणाधिकारी आर.डी.पाटिल ने स्कूल के मुख्याध्यापक और व्यवस्थापन समिती को पत्र भेजकर खिचड़ी बनाने वाली महिला कर्मचारीयों को नौकरी से निकालने से पहले उन्हें विश्वास में लेकर काम किया जाय ऐसा बताया गया.

उक्त आंदोलन आयकट के जिला संघटक रेड्डी वरोरा और भाकपा के जिला सहसचिव राजू गैनवार के नेतृत्व में शुरू था