Published On : Sat, Sep 21st, 2019

संजीव मित्तल ने मध्य रेल के महाप्रबंधक का पदभार संभाला

नागपुर: संजीव मित्तल, भारतीय रेल इंजीनियर्स (IRSE) सेवा के 1982 बैच के एक वरिष्ठ अधिकारी हैं. उन्होंने मध्य रेल के महाप्रबंधक का पदभार संभाल लिया है. इससे पहले वह मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (निर्माण), दक्षिण पूर्व रेलवे में थे.

उन्होंने आईआईटी रुड़की से स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग में स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की है. उनके पास एक शानदार शैक्षणिक कैरियर है, जहां उन्होंने आईआईटी, रुड़की से चांसलर मेडल सहित 3 स्वर्ण पदक प्राप्त किए. हाल ही में मुंबई में आयोजित 64वें राष्ट्रीय पुरस्कार समारोह में उनके नेतृत्व में सिविल इंजीनियरिंग निर्माण की शील्ड संयुक्त रूप से दक्षिण-मध्य रेलवे ने दक्षिण-पश्चिम रेलवे के साथ जीती. उन्होंने मुख्य अभियंता (ट्रैक मशीनें), मुख्य अभियंता (प्लानिंग) और मुंबई रेलवे विकास निगम में मुख्य अभियंता जैसे महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया है.

वे दक्षिण पश्चिम रेलवे में मुख्य पुल अभियंता, मंडल रेल प्रबंधक, हुबली-दक्षिण पश्चिम रेलवे, मुख्य संरक्षा अधिकारी, पश्चिम रेलवे,वरिष्ठ उप महाप्रबंधक और मुख्य सतर्कता अधिकारी, पूर्व मध्य रेलवे के रूप अपनी सेवाएं दे चुके हैं. मित्तल ने मुंबई के पास वसई क्रीक 2 किमी लंबे पुल के निर्माण में 800 मीट्रिक टन के पीएससी गर्डर का ट्रान्सपोर्ट एवं लांच करने के लिए टाइडल इनर्जी का प्रयोग कर एक नोवल तकनीक का उपयोग करके भारतीय रेल में एक कीर्तिमान स्थापित किया है.

मित्तल को सुरंग प्रौद्योगिकी में काफी अनुभव है. उन्होंने प्रशिक्षण आदि के लिए, विभिन्न अवसरों पर कम से कम 20 देशों का दौरा किया है, जिसमें उच्च गति और हैवी हौल टैक्नोलॉजी जैसे विषय शामिल थे.