Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Jun 1st, 2015

    परिसर एक ही और कचरा उठाने का भुगतान मनपा और रेलवे से उठाया

    स्थाई समिति सदस्य सहारे का आरोप

    नागपुर: नागपुर महानगरपालिका और मनपा क्षेत्र अंतर्गत रेलवे सीमा परिसर में एक ही कंपनी कचरा उठाने का काम दो अलग-अलग नामों से कर रही है.और उसका भुगतान दोनों एजेंसियों से उठाने का संगीन आरोप आज मनपा की स्थाई समिति की बैठक में समिति सदस्य व कांग्रेस नगरसेवक संदीप सहारे ने लाया तथा मनपा द्वारा पिछले ३ वर्षो मध्य किये गए भुगतान वसूलने सह सम्बंधित ठेकेदार का कॉन्ट्रैक्ट रद्द करने की मांग की है.

    सहारे ने जानकारी दी कि मनपा अंतर्गत शहर सीमा के इलाको का कचरा उठाने का ठेका कनक रिसोर्स नामक कंपनी को दिया गया है.इसी कंपनी ने शहर सीमा अंतर्गत रेलवे परिसर का कचरा उठाने का ठेका ३ वर्ष पूर्व सेंट्रल रिसोर्स डेवलपमेंट नामक कंपनी के मार्फ़त लिया है.मनपा द्वारा सभी प्रभाग अंतर्गत सभी इलाके का कचरा निरंतर कनक रिसोर्स द्वारा उठवा रही थी.इसमें रेलवे परिसर का समावेश भी शामिल था.इसके लिए इस परिसर का कचरा उठाने के एवज में मनपा ने पिछले ३ वर्षो में कनक रिसोर्स कंपनी को ७७७६०० रूपए भुगतान किये।इसी कंपनी ने अपना नाम बदल कर रेलवे परिसर के लिए कचरा उठाने का ठेका लिया था,और इन्होने दोहरा लाभ उठाते हुए रेलवे प्रशासन से भी तय भुगतान उठाये।

    सहारे ने बताया कि उक्त परिसर (मोतीबाग,पंजाबी लाइन,लष्करीबाग़ रेलवे परिसर) रोजाना ८ टन कचरा उठाया जाता है.उक्त घोटाले की जाँच,दिए गए रकम की वसूली सह ठेका रद्द करने की मांग की है.

    कागजो पर नदी-नालो की सफाई शत-प्रतिशत

    सहारे ने बताया कि मनपा स्वस्थ्य विभाग के पास मनुष्य बल और पोकलेन मशीन की अत्यंत कमी होने के बाद भी विभाग प्रमुख गणवीर और स्थाई समिति अध्यक्ष रमेश शृंगारे का दावा है कि उन्होंने शहर के नदी-नालो की सफाई शत-प्रतिशत कर चुके है.जब सहारे ने गणवीर जानना चाहा कि पोकलेन ठेकेदार अवस्थी को कितना भुगतान नदी-नालो की सफाई के नाम पर किया गया है तो वे सवाल को टाल गए और जवाब दिया की वित्त विभाग प्रमुख से जानकारी लेकर देते है.जबकि वर्क आर्डर गणवीर ने जारी किया,वित्त अधिकारी ने सिर्फ भुगतान से सम्बंधित है.विवाद उठता देख गणवीर ने २ दिन में रिपोर्ट देने का आश्वासन दिया।इससे यह साफ़ है कि मनपा स्वस्थ्य विभाग ने शहर सीमा अंतर्गत नदी-नालो की सफाई कागजो पर कर अपनी पीठ थपथपा रही और प्रशासन सह पदाधिकारियों को गुमराह कर रहे है.

    मॉल,सभागृह,टॉकीज सह अवैध पार्किंग जाँच के लिए समिति का गठन

    सहारे ने सवाल उठाया कि मॉल,सभागृह,टॉकीज सह अवैध पार्किंग पर वसूली जा रही पार्किंग शुल्क का क्या मापदंड है. और इसकी सत्यता की जाँच कौन सा विभाग करता है.इसका जवाब मनपा प्रशासन के पास नहीं मिलने से समिति ने ४ सदस्यों की समिति गठित की.जिसमे संदीप सहारे,संजय बालपाण्डे,अधिकारी प्रमोद भुसारी और जयंत दांडगावकर का समवेश है.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145