| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Sun, May 17th, 2020
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    सलिल देशमुख के प्रयासों को सफलता

    काटोल: काटोल -नरखेड तहसीलि के कपास उत्पादक किसानों ने अपनी अपनी कपास बेचने के लिए काटोल -नरखेड में बड़ी संख्या में पंजीकरण कराया था। लेकिन मंदी के वजह से, किसानों अपना कपास नही बेचा था। वहीं काटोल नरखेड में शासन द्वारा प्रारंभ कपास खरीदी केंद्रों की संख्या भी कम थी। खरिफ फसल की बुवाई का समय आ गया फिर भी किसानों के कपास किसानों के घर में ही भरे है।

    इसके लिये कपास खरेदी केंद्रों की संख्या बढाने के लिये किसानों ने जिला परिषद सदस्य सलील देशमुख से मांग की , इस गंभीर मामले को देखते हुए, सलिल देशमुख ने पणन तथा सहकारिता मंत्री और अधिकारियों के साथ चर्चा की और चर्चा में नये कापास खरेदी केंद्र शुरू करने के मांग को स्वीकार किया गया। इसके लिये किसानों ने जि प सद्स्य सलिल देशमुख के बसाथ अधिकारीयों के बैठक की सफलता माना है। इसके बाद सलील देशमुख ने काटोल विधानसाभा क्षेत्र मे और चार नए कपास खरीद केंद्र काटोल विधानसभा में शुरू किए जाएंगे। यह जानकारी भी दी।

    कोरोना के प्रकोप के कारण लॉकडाउन की घोषणा की गई थी। परिणामस्वरूप, कपास की खरीद बंद कर दी गई। इसके बाद, सलिल देशमुख ने कटोल और नरखेड में कपास के कपास खरिद सेंटर शुरू करवाये थे। लेकिन श्रमिकों की कमी और कोरोना की संक्रमण रोकने के लिए बनाए गए नियमों के कारण, खरीद धीमी गति से शुरू हुई। परिणामस्वरूप, सलिल देशमुख को किसानों ने नये सेंटर की संख्या बढ़ाने के लिए कहा गया। इसके बाद सलिल देशमुख ने विधायक और गृह मंत्री अनिल देशमुख, विपणन मंत्री बालासाहेब पाटिल और मार्केटिंग फेडरेशन के अध्यक्ष राजभाउ देशमुख को यह सारी जानकारी दी। उसके बाद सलिल देशमुख ने मार्केटिंग फेडरेशन के प्रबंध निदेशक नवीन सोना, जिला कलेक्टर रवींद्र ठाकरे, मार्केटिंग फेडरेशन के महाप्रबंधक जयेश महाजन, जोनल अधिकारी दर्शन मेश्राम, जिला उप पंजीयक को सुचित किया

    अजय कडू ने नए कपास खरीद केंद्र शुरू करने के बारे में चर्चा करने के लिए जिला कृषि अधिकारी मिलिंद शेंडे के साथ लगातार बैठकें कीं। इसमें कई समस्याएं थीं। ग्रेडर की कमी के कारण, जिला कलेक्टर ठाकरे ने कृषि सहायकों को प्रशिक्षित करने और उन्हें ग्रेडर का काम देने का आदेश दिया। उल्लेखनीय है कि यह आदेश जारी करते हुए महाराष्ट्र में यह पहला प्रयोग था।

    सलिल देशमुख ने संबंधित जिला कलेक्टर के साथ चर्चा करके जिले के बाहर से कुशल श्रमिकों को लाने के लिए विशेष प्रयास किए। इस दौरान मार्केटिंग फेडरेशन की ओर से प्रिंस जिनिंग-प्रेसिंग घुबाडमेट, निर्मल उज्जवल स्पिनिंग मिल खुरसपार और डागा जिनिंग-प्रेसिंग घोघरा को मंजूरी दी गई। इस बीच, सलिल देशमुख ने सांसद कृपाल तुमाने को फोन कर इसकी जानकारी दि। सांसद कृपाल तूमाने आश्वासन दिया कि जलालखेड़ा में जल्द ही एक नया सीसीआई केंद्र स्थापित किया जाएगा। इससे अब काटोल विधानसभा क्षेत्र में चार नए कपास खरिद केंद्र खोलने का मार्ग प्रशस्त हो गया है।

    सलिल देशमुख ने कहा कि सभी दस्तावेजों को पूरा करने के बाद, सोमवार को केंद्र और घोघरा में केंद्र खोला जाएगा और निर्मल उज्जवल सुतागिरानी में केंद्र शुरू किया जाएगा। साथ ही जलखेड़ा में सीसीआई का केंद्र भी जल्द शुरू किया जाएगा। उन्होंने किसानों से अपील की कि वे निजी केंद्रों पर बेचने के बजाय सरकारी कपास खरीद केंद्रों पर कपास बेचकर स्थिति का लाभ उठाएं। उन्होंने नए केंद्र को शुरू करने में सहयोग के लिए सभी अधिकारियों को धन्यवाद दिया।

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145