Published On : Tue, Jan 25th, 2022

अनाथ बच्चों के लिए शुरू हो सैनिक स्कूल

Advertisement

– श्रीराम जनसेना अंतर्राष्ट्रीय महासंघ ने की केंद्र व राज्य सरकार से मांग

नागपुर -वर्त्तमान परिस्थिति व उज्जवल भविष्य में ठोस नियोजन के उद्देश्य से कंपनी एक्ट के तहत हिंगना व बोखारा निवासी युवा कार्यकर्ताओं ने श्रीराम जनसेना अंतर्राष्ट्रीय महासंघ का पंजीयन किया हैं.इनकी पहली प्राथमिकता यह हैं कि नागपुर जिले में केंद्र व राज्य सरकार के सहयोग से अनाथ बच्चों/विद्यार्थियों के लिए विशेष(SPECIAL) सैनिक(MILITARY SCHOOL) शुरू करने की मांग की हैं.

Advertisement
Advertisement

इस संदर्भ में कमलेश सिंह ने बताया कि देश में सैनिक स्कूल कई हैं,जिसमें सरकारी और निजी पंजीकृत संस्थाओं के.इनमें पढ़ने वाले या पढ़ने के लिए चयनित विद्यार्थी बेशक मेधावी होते हैं और गुणवत्ता पूर्ण देश सेवा में सहयोग दे रहे,जो अतुलनीय हैं.

लेकिन इसके बावजूद महासंघ की इच्छा है कि स्थानीय सह देश के अनाथ बच्चों/विद्यार्थियों के लिए स्पेशल मिलिट्री स्कूल केंद्र सरकार और राज्य सरकार करें।ये अनाथ बच्चे/विद्यार्थी मिलिट्री स्कूल से शिक्षित/प्रक्षिशण लेने के बाद देश सेवा में कुछ ज्यादा ही ध्यान देंगे क्यूंकि उन्हें खोने के लिए कुछ भी नहीं होगा ?

कमलेश सिंह के अनुसार विदर्भ में चंद्रपुर में पिछले 2 वर्ष पूर्व तो बुलढाणा में लगभग 1 दशक पूर्व और नागपुर में निजी पंजीकृत संस्था की मिलिट्री स्कूल संचालित हैं.क्यूंकि नागपुर देश के मध्य में स्थित हैं इसलिए नागपुर में अनाथ बच्चों के लिए केंद्रीय स्तर पर स्पेशल मिलिट्री स्कूल शुरू किया जाए.ऐसे स्कूल के लिए नागपुर जिले के ग्रामीण क्षेत्र में उपयुक्त माहौल और स्वास्थ्यवर्धक वातावरण हैं.

इस सन्दर्भ में जल्द ही महासंघ का एक शिष्टमंडल केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी,राज्य के पशु संवर्धन मंत्री सुनील केदार,नागपुर जिले के पालकमंत्री नितिन राऊत,राज्य विधानसभा में विपक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस,नागपुर ग्रामीण के शिवसेना सांसद कृपाल तुमाने आदि प्रमुख जनप्रतिनिधियों से मिल मांग करेगा।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement