Published On : Thu, Nov 29th, 2018

रश ड्रायविंग कार चालक को पुलिस ने धर दबोचा, लेकिन रिहायशी इलाके में पीछा करना पड़ सकता था भारी

बड़ा हादसा होने पर कौन होता जिम्मेदार ?

नागपुर: जरीपटका में पुलिस की आंखों में धूल झोंक कर भागती एक कार का पीछा पुलिस द्वारा किया गया . पुलिस को पीछा करता देखकर कार चालक तेजी से भगाने लगा इस दौरान कार संतुलन खोते हुए गलियों मैं कई वाहनों को टक्कर मारती हुई निकलने लगी. यह घटना सीसीटीवी में कैद हो गई.

लेकिन पुलिस कर्मचारियों ने अन्य साथियों की मदद से गाड़ी को रोकने में कामयाबी हासिल की. लेकिन इस सब के बीच विचार करनेवाली बात यह कि पूरी घटना में जोखिम को ताक पर रखकर लोगों की जान के साथ खिलवाड़ किया गया.

मेकोसाबाग सिंधी कॉलोनी की यह घटना है. घटना 19 तारीख की शाम की है जहां दो मनचले युवक एक सफेद रंग की अल्टो कार मनमाने ढंग से चला रहे थे. इस बीच गश्त लगाते पुलिस कर्मचारियों की नजर उन पर पड़ी. पुलिस कर्मचारियों ने उस गाड़ी को रोकने की कोशिश की पर वाहन चालकों ने पुलिस को देखकर रुकने की बजाए गाड़ी तेज कर दी. रिहायशी इलाकों की गलियों में सरपट दौड़ते हुए इस गाड़ी ने कई अन्य वाहनों को भी धराशाई कर दिया.

आरोपी और पुलिस की इस भगदड़ में अगर कोई निर्दोष नागरिक बच्चा बूढ़ा या महिला बीच में आ जाता तो उसकी जान पर बन आती. पुलिस के 2 कर्मचारी इन वाहनों को रोकने के लिए जनता की सुरक्षा को ताक पर रख दिया.

इतना ही नहीं इससे पहले भी तेज रफ्तार से आती कार ने बिना रुके बैरिकेड तोड़ते हुए चार पुलिसकर्मियों को घायल कर दिया था.

जरीपटका के थानेदार पराग पोटे ने बताया कि एक कार चालाक रश ड्रायविंग कर रहा था. हमारे चार्ली को पता चला तो उसने कार का पीछा किया. पुलिस से बचने के लिए और तेज रफ़्तार होने से कार संतुलन से बाहर हो गई. यह हादसा घातक भी हो सकता था. पुलिस की सतर्कता से कार चालाक को गिरफ्तार कर मामला दर्ज कर लिया है।

घटना के प्रत्यक्षदर्शी
मेकोसाबाग रहिवासी राहुल मोटवानी का कहना है कि कार काफी तेज रफ़्तार से थी. कार मे दो लड़के थे और वह शराब पीकर रश ड्रायविंग कर रहे थे. उनके सामने एक बच्चा भी था जो साइकल चला रहा था. लेकिन बच्चे की किस्मत की वह बच गया लेकिन आगे जाकर अनमोल पेशवानी नाम के युवक की गाड़ी को तेज रफ़्तार कार ने ठोक दिया. पुलिस उस कार के पीछे पड़ी थी.

रविकांत कांबले
नागपुर टुडे