Published On : Tue, Jan 15th, 2019

सुरक्षा रक्षकों की बदतमीजी से परेशान नागपुर यूनिवर्सिटी हॉस्टल के निवासी छात्र

रात में कर्मचारी करते हैं कमरों में जाकर जांच, एबीवीपी ने प्र-कुलगुरु से की शिकायत

नागपुर: नागपुर यूनिवर्सिटी के बॉयज हॉस्टल में कई दिनों से कुछ समस्याएं आ रही थी. साथ ही नए नियमों के कारण भी कई विद्यार्थियों के एडमिशन नकारे गए थे. सुरक्षा रक्षकों के कारण विद्यार्थियों के परिजनों को भी बाहर गेट पर खड़े रहना पड़ता था, जिसके कारण विद्यार्थियों में काफी रोष था. यहां पर तैनात सुरक्षा रक्षक भी विद्यार्थियों के साथ गलत व्यवहार करते थे और कर्मचारी रात को विद्यार्थियों के कमरे में जाकर उनकी जांच करते थे.

Advertisement

जिसके कारण रोजाना वादविवाद होते थे. इन सभी समस्याओं को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद पश्चिम भाग के पदाधिकारियों की ओर से प्र-कुलगुरु प्रमोद येवले से इस सम्बन्ध में चर्चा की गई और सुरक्षा रक्षकों के व्यवहार को लेकर नाराजगी व्यक्त की गई. इसपर प्र-कुलगुरु ने समाधानकारक भूमिका लेते हुए सुरक्षा रक्षकों को समझाया साथ ही इसके हॉस्टल में परिजनों को और बाहर से आनेवाले विद्यार्थियों को मिलने के लिए विद्यार्थियों को एक प्रतीक्षागृह सभागृह देने की भी बात कही. साथ ही इसके उन्होंने यह मांगे भी मान्य की हॉस्टल के हरएक ब्लॉक के लिए विद्यार्थी प्रतिनिधि नियुक्त करने और एक समिति बनाई जाएगी.

हॉस्टल की शिकायत के लिए वार्डन से मिलने के लिए एक निश्चित समय तय किया जाएगा. महीने में 2 बार वार्डन के साथ विद्यार्थियों का संवाद का आयोजन होगा. हॉस्टल परिसर में स्वच्छता के बारे में तुरंत कार्रवाई करेंगे, रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक विद्यार्थियों के रूम में जाने के लिए सुरक्षा रक्षकों को मनाई की गई है. साथ ही सुरक्षा रक्षकों के असभ्य व्यवहार के लिए अब विद्यार्थी सीधे वार्डन के पास शिकायत कर सकते हैं.

इन मांगों पर प्र-कुलगुरु ने संज्ञान लेकर मान्य भी किया है. इस दौरान एबीवीपी के महानगर मंत्री वैभव बावनकर,पश्चिम भाग संयोजक कार्तिक गजभिये, श्रीकांत मालवीय, बसंत कुमार, हर्षित तिवारी समेत हॉस्टल के अन्य विद्यार्थी मौजूद थे.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement