Published On : Mon, Jul 6th, 2020

RTE आवेदन में नाम हुआ ग़लत, स्कूल ने नकारा एडमिशन

नागपुर– (RTE) मुफ़्त शिक्षा के अधिकार के अंतर्गत प्रवेश की खामियों का सिलसिला आज भी जारी है. ( RTE ) एक्शन कमेटी के चेयरमैन शाहिद शरीफ़ को अनेक शिकायतें प्राप्त हो रही है जिनमें कई गंभीर मामले सामने आए हैं. त्रिमूर्ति नगर स्थित नामचीन स्कूल में एडमिशन मिला, डॉक्युमेंट्स लेकर पालक को बुलाया गया , जिसमें पालक द्वारा सही जानकारी आवेदन में दी गई थी और लॉटरी में उसका नाम मराठी में सही और अंग्रेज़ी में ग़लत अंकित किया गया. जिसके कारण उसका आवेदन नकार दिया गया और इसमें प्रशासन की गलती सामने आई है. RTE एक्शन कमेटी की जाँच करने के बाद अनेक पालकों ने प्रवेश रद्द करवाया.

पिछली सभा में यह ये बताया गया था कि ऑन लाइन शिक्षा देने के लिए कोई राशि विद्यार्थियों से नहीं ली जाएगी, लेकिन स्कूल द्वारा 2000 रुपये लिए गए. आदर्श संस्कार स्कूल द्वारा तीन हज़ार रुपय देने की शर्त पर मुफ़्त शिक्षा के अधिकार में प्रवेश देने की बात कही गई, लेकिन सवाल यह उठता है कि प्रवेश देने का अधिकार स्कूल को नहीं है. वेरीफिकेशन कमेटी एडमिट कार्ड देगी. स्कूल वाले नियमों का उल्लंघन कर पालकों को प्रताड़ित कर रहे हैं. अनेक अभिभावकों की शिकायत मिल रही है. कमेटी में यह निर्णय हुआ था कि सभी स्कूल वाले पालकों को उनके मोबाइल पर संदेश भेजेंगे.

लेकिन अभी तक कई स्कूलों को ये भी पता नहीं है की प्रक्रिया कैसे करना और कई स्कुल कॉल करके अभिभावकों को बुला रहे हैं, लेकिन समाचार के माध्यम से जानकारी मिलने के बाद पालकों का ऐसा कहना है कि हमें संदेश नहीं मिल रहे. कमेटी ने कहा है कि सभी पालकों को रजिस्टर्ड रेंट एग्रीमेंट देना अनिवार्य अन्यथा प्रवेश रद्द हो जाएगा. आरटीई एक्शन कमेटी के कारण कई लोग जिन्होंने बोगस डॉक्युमेंट्स देकर एडमिशन की प्रक्रिया की थी, वे भी अब एडमिशन सरेंडर कर रहे है.