Published On : Mon, Oct 10th, 2016

संघ की विजयादशमी नए गणवेश के साथ

rss-with-new-uniform

नागपुर: राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की विजयादशमी अब हाफ पैंट के जगह फुलपैंट में मनाई जायेगी. जहा मार्च 2016 में राजस्थान के नागौर में संघ की अखिल भारतीय आम सभा में संघ की वेशभूषा में परिवर्तन करने का निर्णय सर्वसहमति से पारित किया गया.

वर्तमान में संघ का गणवेश सफ़ेद शर्ट, काली टोपी, कैनवास का बेल्ट, मोचे, काले जूते दंड और गहरे खाकी रंग की पतलून है. सूत्रो के मुताबिक ये बदलाव युवा पीढ़ी को आकर्षित करने के लिए किया गया है जिसके कारण हाफ पेंट के जगह गहरे खाकी रंग की फूल पैंट को अपनाया गया है. संघ का इतिहास वैसे तो 90 बरस का हो गया है और इतने वर्षो में संघ के परिधान में 1940 को सबसे पहला बदलाव किया गया जहा खाकी कमीज के जगह सफ़ेद रंग की कमीज अपनाई गयीं. जिसके बाद वर्ष 2010 में संघ ने मोटे चमड़े के बेल्ट की जगह कैनवास बेल्ट अपनाया गया. इसके बाद इस वर्ष हाफ पैंट के जगह फुल पैंट को संघ के परिधान में शामिल किया गया है.

सूत्रो के मुताबिक इस पतलून को 250 रुपयो की कीमत से राजस्थान के एक स्वयंसेवक ने बनाया है. जबकि देशभर में संघ के स्वयंसेवको के लिए इस पतलून का कपड़ा राजस्थान के भीलवाड़ा से ख़रीदा जा रहा है. जबकि पतलून की सीलाई गुड़गांव में की जा रही है.जहा से देशभर के संघ की शाखाओ में इसे भेजा जा रहा है.

संघ की इस नई वेशभूषा में 11 अक्टूबर को संघ प्रमुख मोहन भगवत, संघ के सरकार्यवाहक भैयाजी जोशी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़नवीस, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी सभी की मौजूदगी इस नए परिधान के साथ दिलचस्प होगी.