Published On : Sun, Sep 30th, 2018

आरएसएस के सहयोगी द्वारा बनाया जाएगा भारतीय इंटरनेट, नागपुर में होगा सेंटर

नागपुर: आरएसएस के भारतीय शिक्षा मंडल की एक शाखा पुनरुत्थान फाउंडेशन (आरएफआरएफ) ने भारतीय खोज इंजन सहित कई भारतीय केंद्रित तकनीकी उत्पादों को बनाने के चरण में अपना पहला स्थानीय भाषा ईमेल डोमेन लॉन्च किया है. ईमेल नागपुर में आरएफआरएफ के डाटा सेंटर में संग्रहीत किए जाएंगे.

बीएसएम के राष्ट्रीय आयोजन सचिव मुकुल कनितकर और आरएफआरएफ के ट्रस्टी ने कहा कि हम एक पूरी तरह से भारतीय इंटरनेट के बारे में विचार कर रहे हैं, जिसमे न केवल ईमेल आईडी, बल्कि खोज इंजन, फिर भारतीय डोमेन, वेबसाइट और सबकुछ शामिल है. यही वह योजना है जिस पर हम काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि इसमें सुरक्षा और गोपनीयता भी शामिल है, लेकिन यह एक बड़ा मुद्दा है क्योंकि हम बाहर से हार्डवेयर का उपयोग कर रहे हैं. उसके स्वदेशीकरण में बहुत समय लगेगा, केवल तभी यह पूरी तरह से सुरक्षित हो पाएगा. क्योंकि यदि आप सिस्को राउटर और एक चीनी कनेक्टर का उपयोग कर रहे हैं, तो आप यह सुनिश्चित नहीं कर सकते कि आपका डेटा निजी है.

इसके लिए योजना बनाने वाले कांतिकार ने कहा कि आरएफआरएफ भारतीय निर्मित तारों और चिप्स के स्टार्टअप के साथ काम कर रहा है, इसके बाद यह भारत में निर्मित राउटर और कनेक्टर का उपयोग करेगा. शनिवार को विज्ञान भवन में एक आरएफआरएफ कार्यक्रम में ईमेल सेवा शुरू की गई थी, मंच पर से इसे शुरू करने वाले पहले उपयोगकर्ता मानव संसाधन और विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर थे.