Published On : Mon, May 20th, 2019

आरएसएस के महासचिव भैयाजी जोशी से मिले नितिन गडकरी

नागपुर में आरएसएस के महासचिव भैयाजी जोशी ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात की है. ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि ये मुलाकात लोकसभा चुनाव के परिणामों को लेकर की गई है.

19 मई को खत्म हुए सातवें चरण के मतदान के बाद आए एग्जिट पोल के नतीजों में बीजेपी और एनडीए को कई टीवी चैनलों पर पूर्ण बहुमत मिलता दिखाया गया था. हालांकि असल परिणाम 23 मई को ही पता चलेंगे.

केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी कहा है कि एग्जिट पोल अंतिम परिणाम नहीं हैं. गडकरी ने कहा कि एनडीए सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यों के दम पर बीजेपी के एक बार फिर से सत्ता में आने का संकेत तो मिल रहा है. लेकिन एग्जिट पोल अंतिम परिणाम नहीं है.

बीजेपी के वरिष्ठ नेता गडकरी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बायोपिक ‘पीएम नरेन्द्र मोदी’ का पोस्टर जारी होने के मौके पर बोल रहे थे. यह बायोपिक इसी शुक्रवार यानी 24 मई को रिलीज होने जा रही है.

एक सवाल के जवाब में गडकरी ने कहा, “एग्जिट पोल अंतिम निर्णय नहीं हैं लेकिन संकेत हैं. हालांकि, एग्जिट पोल में जो बात सामने आती है, वह कमोबेश नतीजों में भी झलकती है.”

अधिकतर एग्जिट पोल में मोदी के दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने का अनुमान जाहिर किया गया है. इनमें से कुछ एग्जिट पोल में बीजेपी की अगुवाई वाली एनडीए को लोकसभा में जरूरी बहुमत का आंकड़ा 272 को पार कर जाने और 300 से अधिक सीटें मिलने की बात कही गई है.

गडकरी ने जोर देकर कहा कि मोदी के नेतृत्व में बीजेपी की नई सरकार का गठन होगा.

प्रधानमंत्री पद के लिए उनके नाम पर विचार के बारे में पूछे जाने पर गडकरी ने कहा, “मैंने यह करीब 25 से 50 बार स्पष्ट किया है. हमने मोदी जी के नेतृत्व में चुनाव लड़ा है और वह निश्चित रूप से एक बार फिर प्रधानमंत्री बनेंगे.”

उन्होंने कहा, “देश के लोग एक बार फिर बीजेपी, नरेन्द्र मोदी और पांच साल में हमारे द्वारा किए गए काम को समर्थन दे रहे हैं. और एग्जिट पोल इसके संकेत हैं.”

गडकरी ने कहा कि बीजेपी महाराष्ट्र में 2014 के लोकसभा चुनाव की तरह ही सीटें हासिल करेगी.