Published On : Mon, Mar 4th, 2019

पशुसंवर्धन के विकास के लिए ढाई करोड़ रुपए दिए जाएंगे- पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले

नागपूर: ग्रामीण क्षेत्र के लोगों की आय बढ़ाने के लिए मत्स्य व्यवसाय, दुग्धविकास व पशुधन विकास का विशेष प्रारुप तैयार किया गया है. इसके तहत मत्स्य व्यवसाय के लिए 2 करोड़ व पशुधन विकास प्रारूप के तहत महिला बचत समूहों को बकरी पालन व दुग्धव्यवसाय के लिए ढाई करोड़ की निधि उपलब्ध कराने की जानकारी पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने दी. हैद्राबाद हाऊस में हुई बैठक में पालकमंत्री बावनकुले ने विभिन्न विषयाें व मुद्दों की समीक्षा की. बैठक में खनिकर्म विकास महामंडल के अध्यक्ष एड. आशीष जायस्वाल, विधायक सुधाकर कोहले, नागपुर महानगर विकास प्राधिकरण की अध्यक्ष शीतल उगले, मुख्यमंत्री कार्यालय की विशेष कार्य अधिकारी आशा पठान, निवासी उप-जिलाधिकारी रवींद्र खजांजी, उप-जिलाधिकारी रवींद्र कुंभारे, म्हाड़ा के मुख्याधिकारी भिमनवार, जिला नियोजन अधिकारी मिलिंद नारिंगे व विविध विभागों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे.

ग्रामीण क्षेत्र के लोगों की प्रतिदिन आय बढ़ाने के लिए जिला स्तर पर विशेष प्रारूप तैयार कर उसके तहत आने वाले विशेष प्रकल्पाें के लिए जिला नियोजन मंडल, जिला खनिज निधि अंतर्गंत निधि उपलब्ध कराई जाएगी. पशुसंवर्धन विभागांतर्गंत तहसील स्तर पर महिला बचत समूह व दिव्यांग व्यक्तियों के लिए पशुपालन व बकरी पालन शुरू करने के लिए हर तहसील को 25 लाख की निधि उपलब्ध करायी जाएगी. नाविण्य उपक्रम के तहत यह योजना चलाई जाएगी. मानव विकास योजना के तहत कृषि यांत्रिकीकरण के लिए एक करोड़ 79 लाख की निधि उपलब्ध हुई है. विशेष अभियानांतर्गंत नियोजन करने की सूचना पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने बैठक में दी . प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत नागपुर मनपा के अलावा जिले की सभी नगर पालिका और नगर पंचायतों में सरकारी जगह पर बसे झोपड़पट्टीधारकों को मालकी हक के पट्टे वितरण का काम 15 जून तक पूर्ण करने के निर्देश पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने बैठक में अधिकारियो को दिए साथ ही तय समय में घरों का निर्माण करने को भी कहा है.