Published On : Wed, May 17th, 2017

रेवाड़ी: बेटियों से हारी हरियाणा सरकार, 12वीं तक होगा स्कूल, 8 दिन बाद अनशन खत्म


चंढीगढ़:
पिछले आठ दिनों से हरियाणा के रेवाड़ी में अनशन पर बैठी छात्राओं की मांग को सरकार ने मान लिया है। सरकार ने छात्राओं की बात मानते हुए स्कूल को 12वीं तक करने की घोषणा कर दी है। मामले में नोटिस जारी करते हुए सरकार ने कहा है कि रेवाड़ी के हाई स्कूल को सीनियर सेकंड्री स्कूल किया जाएगा। दरअसल रेवाड़ी के गोठड़ा टप्पा डहीना गांव में 13 स्कूली छात्राएं अपने स्कूल को 12वीं तक किए जाने के लिए भूख हड़ताल पर बैठी थीं। छात्राओं को कहना है कि उनके लिए आगे की पढ़ाई के लिए कोई सुविधा नहीं है। जिससे आगे की पढ़ाई के लिए घर से तीन किलोमीटर तक जाना पड़ता है। छात्राओं का आरोप है कि इस दौरान में रास्त में उनसे अक्सर छेड़खानी की जाती है।

बता दें कि स्कूल को 12वीं तक किए जाने के लिए गांव की करीब 80 छात्राएं विरोध-प्रदर्शन कर रही थीं जबकि 13 छात्राएं भूख हड़ताल पर बैठी थी। जिनमें से आज (17 मई, 2017) कई छात्राओं की तबीयब खराब हो गई, जिन्हें आनन फानन में ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया। जबकि एक छात्रा की हालत ज्यादा नाजुक हो गई जिसे रोहतक पीजीआई रेफर किया गया था।


इससे पहले बीती शुक्रवार रात भी 3 छात्राओं की हालत बिगड़ गई थी जिन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। बाद में ये छात्राएं भी अगले दिन (शनिवार) दोबारा भूख हड़ताल पर बैठ गईं। इस दौरान गांव के सरपंच सुरेश चौहान भी हड़ताल पर बैठे थे। हालांकि बाद में मामले को गंभीरता से लेते हुए डॉक्टरों की एक टीम धरनास्थल पर पहुंच गई।