Published On : Fri, Apr 3rd, 2015

गड़चिरोली : पद का त्याग करके सरकार के खिलाफ लड़ाई


जिले में फिर से उठेगा ओबीसी आंदोलन

nana patole
गड़चिरोली। ओबीसी का आरक्षण, पेसा कानून अंतर्गत नोकरभर्ती अधिसूचना और ओबीसी के प्रश्नों पर कोई ध्यान नही दिया तो अपना पद त्याग करके सरकार के खिलाफ लड़ाई करेंगे ऐसा इशारा भाजपा के गोंदिया-भंडारा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के सांसद नाना पटोले ने 2 अप्रैल को गडचिरोली में किया. वे स्थानिय शासकीय विश्राम गृह में दोपहर आयोजित ओबीसी नेताओं की बैठक में वे बोल रहे थे.

आरक्षण और पेसा कानून के अधिसूचना पर जिले में फिर से एक बार ओबीसी तीव्र आंदोलन करें, लेकिन इसके लिए अन्य समाज का तिरस्कार न करे तथा उनके सामाजिक आंदोलन में शामिल होकर उनसे प्रेरणा लेकर आंदोलन करे. ऐसा आवाहन इस दौरान किया गया. ओबीसी का विकास मजबूत करने पर जोर देने की बात पटोले ने बताई.

बैठक में जिले के ओबीसी आरक्षण, पेसा कानून अंतर्गत नोकरभर्ती अधिसूचना, ओबीसी की जातीनिहाय जनगणना, एससी, एसटी की तरह ओबीसी छात्रों को 100 प्रतिशत शिष्यवृत्ति, ओबीसी आदि समस्याओं पर चर्चा हुई. इस दौरान संघर्ष कृति समिति के जिलाध्यक्ष अरुण मूंघाटे, दादाजी चापले, जिप सदस्य प्रशांत वाघरे, बाबुराव कोहले, दादाजी चौधरी, नगरसेवक प्रा. राजेश कात्रटवार, प्रा. रमेश चौधरी, नामदेवराव गडपल्लीवर आदि उपस्थित थे.